जानिए: बसंत पंचमी यानि आज माता सरस्‍वती की पूजा का शुभ मुहूर्त व महत्‍व

16 फरवरी यानि आज है बसंत पंचमी का पावन त्‍यौहार आपको बता दें कि माघ मास में शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को बसंत पंचमी पर्व मनाया जाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार आज बसंत पंचमी मनाई जाएगी। इसी दिन ज्ञान की देवी मां सरस्वती की पूजा-अर्चना भी की जाएगी। कहा जाता है कि मां सरस्वती की पूजा करने से ज्ञान का विस्तार होता है। मान्यता है कि माघ मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मां सरस्वती ब्रह्माजी के मुख से प्रकट हुईं थी और इसीलिए इस तिथि को बसंत पंचमी का पर्व मनाया जाता है। ज्ञान की देवी होने और इस तिथि को प्रकट होने की वजह से मां सरस्वती की पूजा की जाती है।

इस दिन के लिए पीले रंग का विशेष महत्व माना गया है। वसंत पंचमी के दिन पीले फूल, पीले मिष्ठान अर्पित करना शुभ माना जाता है। माना जाता है कि भगवान विष्णु को पीला रंग बहुत प्रिय है। इस दिन पीले वस्त्र पहनने और भेंट करने चाहिए। इस दिन लोग सुबह उठाकर स्नान करते हैं। इसके बाद शिक्षा से जुड़ी चीजों की पूजा करते हैं। इस दिन जगह-जगह सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जाता है। साथ ही साथ मां सरस्वती की आरती की जाती है।

बसंत पंचमी का शुभ मुहूर्त
पंचांग के अनुसार वसंत पंचमी शुभ मुहूर्त निकाला जाता है। इस बार….

पंचमी तिथि आरंभ मुहूर्त: 16 फरवरी 2021 की सुबह 03 बजकर 36 मिनट से

पंचमी तिथि समाप्‍ति मुहूर्त: 17 फरवरी 2021 को दोपहर 05 बजकर 46 मिनट तक

सरस्वती पूजा का शुभ मुहुर्त: 16 फरवरी 2021 को सुबह 06:59 से दोपहर 12:35 मिनट तक

पौराणिक कथा
पौराणिक कथाओं के अनुसार एक बार ब्रह्मा ने अपने भ्रमण के दौरान सारी सृष्टि को कांतिहीन और उदासीन पाया। ये देखकर ब्रह्मा जी भगवान विष्णु के पास गए और सारी बात बताई। इस पर भगवान विष्णु ने ब्रह्मा से कहा कि आप देवी सरस्वती का आह्वान कीजिए, वे ही आपकी समस्या का समाधान कर सकती हैं। ब्रह्मा जी ने अपने कमंडल में से पृथ्वी पर जल छिड़का और इन जलकणों से चार भुजाओं वाली एक शक्ति प्रकट हुई जिसके हाथों में वीणा, पुस्तक और माला थी। ब्रह्मा जी ने शक्ति से वीणा बजाने को कहा ताकि पृथ्वी की उदासी दूर हो सके। उस शक्ति ने जैसे ही वीणा के तार छेड़े तो सारी पृथ्वी लहलहा उठी और सभी जीवों को वाणी मिल गई। वो दिन बसंत पंचमी का दिन था। तब से इस दिन को मां सरस्वती के प्राकट्य दिवस के रूप में मनाया जाता है।

बसंत पंचमी के दिन लगाएं भोग
इस दिन के लिए पीले रंग का विशेष महत्व माना गया है। वसंत पंचमी के दिन पीले फूल, पीले मिष्ठान अर्पित करना शुभ माना जाता है। माना जाता है कि भगवान विष्णु को पीला रंग बहुत प्रिय है। इस दिन पीले वस्त्र पहनने और भेंट करने चाहिए।

admin