कोरोना टीकाकरण में मध्यप्रदेश, राजस्थान और त्रिपुरा अव्‍वल

नई दिल्ली । देश में कोरोना के मामले व मृत्यु दर में लगातार कमी दर्ज की जा रही है। इस बीच कोरोना से बचाव के लिए शुरू किए गए टीकाकरण कार्यक्रम के तहत मध्यप्रदेश, राजस्थान व त्रिपुरा में करीब 60 फीसदी से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया जा चुका है।

केन्द्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने गुरुवार को प्रेस वार्ता में बताया कि महाराष्ट्र में सबसे अधिक 73.6 प्रतिशत लोगों को टीका दिया जा चुका है। दूसरे स्थान पर राजस्थान है जहां अभी तक 66.8 प्रतिशत लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। तीसरे स्थान पर त्रिपुरा है जहां 65 प्रतिशत लोगों को टीका दिया जा चुका है। उन्होंने बताया कि सिक्किम, लद्धाख, तमिलनाडु, असम जैसे राज्यों में टीकाकरण की गति धीमी है। वहां इसकों लेकर हिचक बरकरार है। इसे दूर करने के लिए राज्य सरकारों को लिखा गया है। 13 फरवरी से उन लाभार्थियों को टीके की दूसरी डोज देने का काम शुरू होगा।

उन्होंने बताया कि देश में कोरोना पॉजिटिविटी दर यानि कुल टेस्ट में संक्रमित मामले पाने की मामले में गिरावट दर्ज हुई है। अगस्त के महीने में देश में पॉजिटिविटी रेट 9 प्रतिशत था जो अब घटकर 5.42 प्रतिशत रह गया है। वहीं, अब भी कुछ राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश हैं जहां पॉजिटिविटी दर 11 प्रतिशत तक है। उन्होंने बताया कि देश में पिछले तीन सप्ताह में 47 जिलों में कोरोना का कोई मामला दर्ज नहीं हुआ है जबकि देश के 251 जिलों में पिछले तीन सप्ताह से कोरोना से संबंधित कोई मृत्यु दर्ज नहीं हुई । राजेश भूषण ने बताय़ा कि देश में 18 दिनों में ही 40 लाख से अधिक लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा चुका है। यह विश्व में सबसे तेजी से किए जाने वाला टीकाकरण अभियान है। देश में 5912 सरकारी टीकाकरण केन्द्र हैं जबकि 1239 निजी अस्पताल को शामिल किया गया है।

admin