मिचेल स्टार्क गेंद को स्विंग नहीं करा पाते हैं तो उन्हें दक्षिण अफ्रीका दौरे पर नहीं ले जाना चाहिए : पोंटिंग

मेलबर्न। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग का मानना है कि यदि तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क गेंद को स्विंग कराने की दक्षता फिर से हासिल नहीं कर पाते हैं तो उन्हें दक्षिण अफ्रीका दौरे पर नहीं ले जाना चाहिए। स्टार्क ने भारत के खिलाफ चार मैचों की श्रृंखला के पहले दो टेस्ट मैच में आठ विकेट लिए थे, लेकिन इसके बाद वह भारतीय बल्लेबाजों को ज्यादा परेशान नहीं कर सके और भारत ने यह श्रृंखला 2-1 से अपने नाम कर ली।

पोंटिंग ने कहा कि गेंद दक्षिण अफ्रीका में स्विंग करती है और अगर स्टार्क स्विंग कराने में सक्षम होते हैं तो वह श्रृंखला में अधिक घातक होंगे। लेकिन दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले कोई प्रथम श्रेणी क्रिकेट नहीं होने के कारण, पूर्व कप्तान को लगता है कि स्टार्क को प्रशिक्षण के दौरान कोचों को प्रभावित करना होगा।

पोंटिंग ने कहा,”यह सब इस बात पर निर्भर करता है कि स्टार्क अब और फिर नेट्स में क्या करते हैं। हम इस बारे में बात कर रहे हैं कि स्टार्क अब गेंद को स्विंग नहीं करा पा रहे हैं। उन्होंने भारत के खिलाफ पहले दो टेस्ट में गेंद को खूबसूरती से स्विंग कराया, लेकिन उसके बाद वो एकदम से गेंद को स्विंग कराने में असफल हो गए।”

उन्होंने कहा,” दक्षिण अफ्रीका में गेंद घूमती है और हम जानते हैं कि जब वह स्विंग कराते है तो वह कितने खतरनाक होतें हैं। लेकिन अगर वह गेंद को स्विंग नहीं करा पा रहे हैं तो खेलने से बेहतर है वह अपने तकनीक पर काम करें और अगर वह गेंद को नेट्स में स्विंग कराना शुरू कर देते हैं तो ही उन्हें खेलना चाहिए।”

इस बीच, तेज गेंदबाज झे रिचर्डसन ने बिग बैश लीग (बीबीएल) में अपनी विकेट लेने की क्षमता से सभी को प्रभावित किया है। रिचर्डसन, जो हाल ही में कंधे के ऑपरेशन से लौटे थे, ने बीबीएल में 26 विकेट चटकाए।

स्टार्क के फॉर्म में न होने से पोंटिंग को लगता है कि रिचर्डसन दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेल सकते हैं क्योंकि उन्होंने जनवरी 2019 में अपने टेस्ट पदार्पण मैच में स्विंग गेंदबाजी का अच्छा प्रदर्शन किया था।

पोंटिंग ने कहा, “वह बेहतरीन गुणों वाला नया गेंदबाज है और अगर स्टार्क के फॉर्म पर सवालिया निशान हैं और आपको नई गेंद को स्विंग करने के लिए किसी की जरूरत है, तो रिचर्डसन उस सांचे में अच्छी तरह से फिट बैठ सकते है। हमने देखा कि उसके (टेस्ट) डेब्यू पर वह गेंद को स्विंग कर सकता है।”

इससे पहले, ऑस्ट्रेलिया के सहायक कोच एंड्रयू मैकडोनाल्ड ने कहा कि एक टीम दक्षिण अफ्रीका की यात्रा करेगी और दूसरी टीम 22 फरवरी से शुरू होने वाली पांच मैचों की टी 20 श्रृंखला खेलने के लिए न्यूज़ीलैंड जाएगी। मैकडोनाल्ड ने कहा, “हम इस दौरे की उम्मीद कर रहे हैं और हम आगे बढ़ने की तैयारी कर रहे हैं। हम अपनी तैयारियों की योजना बना रहे हैं। एक टीम टेस्ट श्रृंखला के लिए दक्षिण अफ्रीका जा रही है और एक टीम न्यूजीलैंड जा रही है।”

admin