महिला से छेड़खानी करने का आरोपी विधायक हुआ बरी

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। दिनेश मोहनिया पर छेड़खानी का आरोप लगाया गया था लेकिन अब वो बरी हो गए हैं। दिल्ली की एक अदालत ने सोमवार को आम आदमी पार्टी के विधायक दिनेश मोहनिया को 2016 के कथित छेड़खानी मामले में बरी कर दिया है। अदालत ने सह-आरोपी सतीश और सुभाष शुक्ला को भी मामले में बरी कर दिया।

यह मामला वर्ष 2016 का है जिसमें महिला के एक समूह ने छेड़खानी का आरोप लगाया था। दरअसल महिलाएं अपने क्षेत्र में पानी की समस्या को लेकर विधायक के ऑफिस में गयी थीं। मोहनिया पर महिलाओं को चोट पहुंचाने, आपराधिक धमकी देने, महिलाओं के सम्मान को ठेस पहुंचाने वाले गलत शब्दों और इशारे करने का मामला दर्ज किया गया था।

हाल ही में आम आदमी पार्टी ने दिनेश मोहनिया को उत्तराखंड में अपने संगठन का विस्तार करने पर काम सौंपते हुए उत्तराखंड का प्रभारी बनाया था। पिछली सरकार में वे दिल्ली जल बोर्ड में उपाध्यक्ष बनाए गए थे। पिछले महीने हुए विधानसभा चुनाव में वह लगातार तीसरी बार विधायक चुने गए। बाद में पार्टी आलाकमान ने उन्हें उत्तराखंड का प्रभारी बनाया।

अभी तक सात केस में बरी हो चुके हैं मोहनिया

संगम विहार से विधायक दिनेश मोहनिया के खिलाफ 2016 में एक जनसंवाद के दौरान महिला से छेड़छाड़ के आरोप में केस दर्ज हुआ था। इसी तरह उनके खिलाफ अलग-अलग मामलों में कुल 9 केस दर्ज हुए थे, जिनमें से अब तक सात मामलों में अदालत उन्हें बरी कर चुकी है।

एक मामले में पुलिस ने आरोपपत्र दाखिल नहीं किया और दूसरे मामले की सुनवाई पर अदालत ने रोक लगा रखी है। 2015 के बाद से आप के 52 विधायकों के खिलाफ 125 से अधिक केस दर्ज हुए। जिसमें से अभी तक 82 से अधिक मामलों में आरोपित बरी हो चुके हैं।

admin