अमेरिका में एक दिन में 2000 से ज्यादा मौतें

वाशिंगटन

अपने नागरिकों को नहीं बुलाने वाले देशों पर अमेरिका सख्त, राष्ट्रपति ट्रंप ने नए वीजा प्रतिबंधों का किया ऐलान

सुपरपावर अमेरिका में एक दिन में कोरोना वायरस (कोविड-19) से 2000 से ज्यादा मौतें हुई हैं। यह किसी भी देश में कोरोना वायरस के संक्रमण से एक दिन में होने वाली सबसे ज्यादा मौतें हैं। इस देश में कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम ही नहीं ले रहा है।

जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के मुताबिक, अमेरिका में बीते 24 घंटों में कोविड-19 से 2108 लोगों की मौत हुई। देश में कोरोना से अब तक 18777 मौतें हुई हैं जबकि 501615 लोग संक्रमित हुए हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इस बात की आंशका जता चुके हैं कि कोरोना वायरस के संक्रमण से उनके देश में 1 से 2 लाख लोगों की जान जा सकती है। विश्वभर में कोरोना वायरस से मृतकों का आंकड़ा 103536 पर पहुंच गया है। वहीं, दुनिया भर में 1709014 लोग अब तक इस जानलेवा वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। इस महामारी से विश्व में संक्रमित 3.7 लाख से ज्यादा लोग पूरी तरह ठीक भी हुए हैं।

इस बीच अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोविड-19 वैश्विक महामारी के दौरान अपने नागरिकों को स्वदेश बुलाने से इनकार कर रहे या इसमें टालमटोल कर रहे देशों के नागरिकों पर नए वीजा प्रतिबंध लगाने का शुक्रवार को ऐलान किया। ट्रंप ने वीजा प्रतिबंधों के लिए ज्ञापन जारी किया जो तत्काल प्रभाव से लागू होगा और इस साल 31 दिसंबर तक प्रभावी रहेगा। राष्ट्रपति की तरफ से जारी ज्ञापन में कहा गया है, ‘जो देश कोविड-19 से फैली महामारी के दौरान अमेरिका से अपने नागरिकों या निवासियों को बुलाने से इनकार कर रहे हैं या बिना वजह के देरी कर रहे हैं, वे अमेरिकियों के लिए अस्वीकार्य जन स्वास्थ्य खतरा पैदा कर रहे हैं।’

कानून तोड़ने वाले देशों की करेंगे पहचान : ट्रंप

Official portrait of President Donald J. Trump, Friday, October 6, 2017. (Official White House photo by Shealah Craighead)

अमेरिका के गृह सुरक्षा मंत्री और विदेश मंत्री को संबोधित ज्ञापन में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि अमेरिका उन विदेशी नागरिकों को उनके देश वापस भेजे जो अमेरिका के कानूनों का उल्लंघन करते हैं। इस संबंध में प्रक्रिया गृह सुरक्षा मंत्री शुरू करेंगे जो उन देशों की पहचान करेंगे जिन्होंने अपने नागरिकों को स्वदेश बुलाने के अमेरिका के अनुरोध को स्वीकार नहीं किया। इसके बाद वह विदेश मंत्री को अधिसूचित करेंगे।

admin