यूरोप में 90 हजार से अधिक मौतें, दुनिया का 65 प्रतिशत

पेरिस/टोक्यो

कोविड-19… कोरोना वायरस से जूझ रहे जापान में एक रिपोर्ट ने शिंजो आबे सरकार की नींद उड़ा दी, जिसमें कहा गया है कि यहां हो सकती है 4 लाख से ज्यादा मौत

यूरोप में कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की संख्या 90 हजार से अधिक हो गई है। दुनियाभर में हुई मौतों में से 65 प्रतिशत से अधिक मौतें यूरोपीय देशों में ही हुई हैं। आधिकारिक सूत्रों से प्राप्त आंकड़ों पर आधारित तालिका के अनुसार यूरोप में कुल 90,180 लोगों की मौत हो चुकी है और 10,47,279 लोग संक्रमित पाए गए हैं। वहीं, दुनियाभर में कोरोना वायरस संक्रमण से लगभग 1,37,499 से ज्यादा लोग दम तोड़ चुके हैं। वहीं कोरोना वायरस से जूझ रहे जापान में इस महामारी से जुड़ी एक रिपोर्ट ने शिंजो आबे सरकार की नींद उड़ा दी है।

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर सरकार ने सख्त कदम नहीं उठाए तो 4 लाख लोगों की जान जा सकती है। उधर, देश में कोरोना की बहुत तेज रफ्तार को देखते हुए प्रधानमंत्री शिंजो आबे अब पूरे देश में राष्ट्री़य आपातकाल घोषित करने की योजना पर काम कर रहे हैं। जापान में कोरोन वायरस का बहुत तेजी से प्रसार होता जा रहा है। देश में अब तक कोरोना संक्रमण के 8,626 मामले सामने आए हैं। इस महामारी से अब तक 178 लोगों की मौत हो गई है। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामलों में बहुत तेजी से इजाफा होने के बाद टोक्यो, ओसाका और 5 अन्य प्रांतों में आपातकाल घोषित कर दिया है। वहीं सबसे प्रभावित अमेरिका में कोरोना के लगभग 6,44,089 मामले दर्ज किये गए है। जबकि इससे 28,529 लोगों की मौत हो चुकी है।

8 लाख 50 हजार लोगों को वेंटिलेटर की जरूरत

जापानी कानून के मुताबिक आपातकाल में भी किसी बिजनेस को बंद करने के लिए बाध्यो नहीं किया जा सकता है। हालांकि कई कंपनियों ने जानबूझकर वर्क फॉम होम की पॉलिसी शुरू कर दी है। जापान में केवल उन्हीं लोगों की जांच की जा रही है जिनके अंदर कोरोना वायरस के लक्षण हैं। इस बीच जापानी मीडिया ने सरकारी सूत्रों के हवाले से बताया कि अगर देश में सख्ती कदम नहीं उठाए गए तो 4 लाख लोगों की जान जा सकती है। इस रिपोर्ट में कहा गया 8 लाख 50 हजार लोगों को वेंटिलेटर की जरूरत पढ़ सकती है।

दक्षिण कोरिया में कोरोना के 22 नए मामले : दक्षिण कोरिया में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 22 और मामलों की पुष्टि हुई है, जिससे देश में संक्रमितों की संख्या 10,613 पहुंच गई है, जबकि 229 लोगों की मौत हो चुकी है। दैनिक वृद्धि चौथे दिन 30 से नीचे रही है।

चीन ने रूसी सीमा पर चिकित्सा सुविधाओं को मजबूत किया : चीन में कोरोना वायरस के 46 नए मामले सामने आए हैं जिनमें 34 विदेशों से आए हुए लोग शामिल हैं। सीमा पार से आने वाले उत्तर-पूर्वी सीमा पर चिकित्सा सुविधाओं को मजबूत किया है।

कोरोना वायरस का सटीकता से पता लगाने वाली नई जांच विकसित: अध्ययन

वैज्ञानिकों ने एक नई जांच विकसित की है जो कोरोना वायरस का अधिक तेजी और सटीकता से पता लगा सकती है और पॉलीमरेज श्रृंखला अभिक्रिया (पीसीआर) आधारित जांच पर दबाव से राहत दिला सकती है जिसका इस्तेमाल अभी किया जा रहा है। अभी कोविड-19 वैश्विक महामारी से लड़ने में पीसीआर आधारित जांच का ही इस्तेमाल किया जा रहा है। इस संवेदनशील जांच में मरीज के मुंह के लार के नमूने की जांच की जाती है ताकि विषाणु की छोटी-से छोटी मात्रा का भी पता लगाया जा सके।

फंडिंग रोकने के फैसले पर अमेरिका पर बरसे डब्ल्यूएचओ प्रमुख

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के प्रमुख ने संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी का वित्त पोषण (फंडिंग) रोकने के अमेरिका के फैसले पर बुधवार को बरसते हुए उसके फैसलों की समीक्षा करने का वादा किया। हालांकि, उन्होंने कथित कुप्रबंधन, कुछ गतिविधियों पर पर्दा डालने और गलत कदम उठाने के बारे में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की शिकायतों को नजरंदाज कर दिया।

admin