राम जन्मभूमि के प्रधान पुजारी समेत एक दर्जन से ज्यादा पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

अयोध्या में 5 अगस्त के भूमि पूजन को लेकर तैयारियों के बीच हड़कंप मच गया है। यहां साधु-संतों के साथ राम जन्म भूमि की सुरक्षा में लगे 16 पुलिसकर्मी भी कोरोना वायरस संक्रमित पाए गए है।

संपर्क में आए लोगों का सैंपल भी लिया जा रहा है। कहा जा रहा है कि मंदिर में इन लोगों के संपर्क में आए भक्तों की भी सैंपलिंग की जाएगी।

प्रधान पुजारी के साथ 4 पुजारी राम लला की सेवा करते हैं

राम जन्मभूमि के पुजारी प्रदीप दास कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। वह प्रधान पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास के शिष्य हैं। प्रदीप दास भी सत्येंद्र दास के साथ राम जन्मभूमि की पूजा करते हैं। बता दें कि राम जन्मभूमि में प्रधान पुजारी के साथ-साथ 4 पुजारी राम लला की सेवा करते हैं।

यहां पर रामलला के पुजारी समेत सुरक्षा में लगे एक दर्जन से ज्यादा पुलिसकर्मियों को कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। रिपोर्ट आने के बाद सभी लोगों को क्वारंटाइन कर दिया गया है।

क्षेत्र ट्रस्ट कोई कसर नहीं छोड़ रहा है

राम मंदिर के भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होने 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या आएंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ देश के तमाम गणमान्य लोग भी उपस्थित रहेंगे।

इस भूमि पूजन कार्यक्रम की भव्यता और प्रचार में राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। वहीं, प्रधानमंत्री के दौरे को लेकर अयोध्या में सुरक्षा कड़ी की गई है।

चुनिंदा लोगों को ही कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया है

हालांकि कोरोना के संकट के कारण भूमि पूजन कार्यक्रम के लिए अधिक लोगों को न्योता नहीं जा रहा है। केवल चुनिंदा लोगों को ही शिलान्यास कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया है।

महामारी कोरोना की वजह से भूमिपूजन कार्यक्रम के लिए जन्म भूमि परिसर में 50-50 लोगों के अलग-अलग ब्लॉक में करीब 200 लोग मौजूद होंगे।

यहां दीवाली जैसा माहौल नजर आएगा

50 की संख्या में देश के बड़े साधु-संत मौजूद रहेंगे, 50 की संख्या में देश के बड़े नेता और आंदोलन से जुड़े लोग रहेंगे। इनमें दिग्गज राजनीतिक हस्तियों में लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती और कल्याण सिंह शामिल हैं।

राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन तो 5 अगस्त को होगा, लेकिन 3 अगस्त से ही अयोध्या में उत्सव शुरू हो जाएगा। यहां दीवाली जैसा माहौल नजर आएगा। इस दौरान प्रशासन की तरफ से शहर में लाखों दिए जलाए जाएंगे। इसके साथ ही आम लोगों से अपील की जाएगी कि वो अपने घरों के बाहर दिए जलाएं।

admin