सिद्ध पद्धति से छह हजार से अधिक संक्रमित ठीक

चेन्नई

पारंपरिक सिद्ध चिकित्सा प्रणाली कारगार

कोरोना के इलाज के लिए दुनियाभर में वैज्ञानिक वैक्सीन बनाने में लगे हुए हैं इधर देश में कोरोना के इलाज की नई पद्धति से हजारों लोग ठीक हो गए हैं। पारंपरिक सिद्ध चिकित्सा प्रणाली की दवाएं कोविड-19 मरीजों के इलाज में काफी कारगर साबित हुई और तमिलनाडु में करीब छह हजार मरीज इस पद्धति से किए गए इलाज से ठीक हुए हैं।

आधिकारिक सूत्रों ने सोमवार को बताया कि 11 विशेष सिद्ध कोविड-19 मरीज देखभाल केंद्र में भर्ती 5,725 मरीज सिद्ध पद्धति की दवाओं से ठीक हुए हैं। चेन्नई के जवाहर विद्यालय और व्यासपर्दी स्थित डॉ. आम्बेडकर राजकीय कला महाविद्यालय में स्थापित सिद्ध सीसीसी में करीब 3200 बिना लक्षण वाले कोविड-19 मरीजों का सिद्ध दवाओं से इलाज किया है।

वेल्लोर में 1258 मरीजों का इलाज सिद्ध पद्धति से

सूत्रों ने बताया कि 434 मरीजों का यहां के दो केंद्रो पर इलाज चल रहा है, 715 मरीजों का जिले के 12 सिद्ध सीसीसी में इलाज चल रहा है। वहीं चेन्नई के अलावा वेल्लोर में सबसे अधिक 1,258 कोविड-19 मरीजों का इलाज सिद्ध पद्धति से चल रहा है। उन्होंने बताया कि थेनी स्थित दो सिद्ध सीसीसी के अलावा तिरुवन्नामलाई, थाचर, वेल्लोर, थिरुपुथुर, रानीपेट, तेनकाशी, विल्लुपुरम और कोयंबटूर में भी विशेष केंद्र चल रहे हैं।

 

admin