नई दिल्ली सीट ने दिए पांच मुख्यमंत्री

नई दिल्ली

मुख्यमंत्रियों वाली सीट

सूबे की प्रतिष्ठित नई दिल्ली सीट पर हमेशा से दिलचस्प मुकाबले होते रहे हैं। यह सीट पिछले पांच बार से दिल्ली को मुख्यमंत्री देती रही है। इसी विधानसभा सीट से चुनाव जीतकर कांग्रेस की नेता शीला दीक्षित तीन बार लगातार मुख्यमंत्री रही थीं, वहीं आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल लगातार दो बार यहां से जीतकर मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठे। पिछले पांच विधानसभा चुनावों से भाजपा को इस सीट पर जीत का स्वाद नहीं मिल सका है। हालांकि, उससे पहले पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद यहां से एक बार भाजपा विधायक रहे हैं।

वर्ष 2008 के परिसीमन से पहले इस विधानसभा क्षेत्र का नाम गोल मार्केट था। वर्ष 1993 में दिल्ली में पहली बार हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा ने क्रिकेट से राजनेता बने कीर्ति आजाद को यहां से चुनाव मैदान में उतारकर मुकाबले को रोचक बनाया था। उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार बृजमोहन को पराजित किया था। वर्ष 1998 में हुए दूसरे विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने शीला दीक्षित को यहां से अपना प्रत्याशी बनाया।

केजरीवाल भी यहीं से जीत कर बने सीएम

पिछले विधानसभा चुनाव यानी वर्ष 2015 में इस सीट से एक बार फिर अरविंद केजरीवाल ने चुनाव लड़ा। उनके सामने कांग्रेस ने इस बार पूर्व मंत्री प्रो. किरण वालिया को चुनाव मैदान में उतारा। वहीं, भाजपा ने दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ की पूर्व अध्यक्ष नूपुर शर्मा को टिकट दिया। इस मुकाबले में भी अरविंद केजरीवाल विजयी रहे।

admin