लॉकडाउन के चलते ‘नूरजहाँ’ पर भी नहीं आई बहार

विकाससिंह राठौर | इंदौर

देश में लॉक डाउन है और सभी को बाहर निकलने की मनाही है। इस सख्ती का असर ‘आम लोगों’ पर कम और ‘खास आम’ पर ज्यादा नजर आ रहा है। आमों की रानी कही जाने वाली खास किस्म ‘नूरजहां’ की इस साल पैदावार नहीं हुई है। यह किस्म इसलिए खास है क्योंकि इस किस्म का एक ही आम तीन किलो वजन तक का होता है। लेकिन इस साल शौकिनों को इसका स्वाद नहीं मिल पाएगा।

नूरजहां आम मूलत: अफगानिस्तान की नस्ल है। मध्यप्रदेश में सिर्फ आलीराजपुर के कट्‌ठीवाड़ा में इसके पेड़ हैं। वहीं पूरे देश में भी इसके कुछ चुनिंदा पेड़ ही मौजूद हैं। इंदौर से करीब 350 किलोमीटर दूर स्थित कट्‌ठीवाड़ा में नूरजहां आम के सात पेड़ मौजूद हैं। लेकिन सिर्फ इन सात पेड़ों से ही सीजन में दो हजार किलो से ज्यादा आम की पैदावार होती है। खास बात यह है कि हर आम का औसत वजन करीब तीन किलो तक होता है और इतने भारी होने के कारण आम के आने पर पेड़ों को सहारा तक देना पड़ता है, ताकी शाखाएं आम के वजन से टूट ना जाएं। इन आमों को विशेष देखरेख में तैयार किया जाता है। इसके खास और दुर्लभ होने के कारण इसके शौकीन मध्यप्रदेश के साथ ही महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान तक में हैं और पेड़ पर आम लगने के साथ ही इसकी ऊंची कीमत पर बुकिंग तक कर देते हैं। लेकिन इस साल शौकिनों को निराशा हाथ लगेगी। इस साल नूरजहां के पेड़ों पर आम के बोर (फूल) ही नहीं आए। आमों के विशेषज्ञ और न्यू पैलेस के प्रबंधक ईशाक मंसूरी बताते हैं कि नूरजहां आम की साइज के कारण इसकी काफी डिमांड रहती है। फसल आने से पहले ही बुकिंग के लिए फोन आने लगते हैं। लेकिन एक साल आमों का अच्छा उत्पादन होता है तो दूसरे तक साल कुछ कम। पिछले साल अच्छे उत्पादन के बाद संभावना थी कि इस साल पैदावार कम होगी, लेकिन इस साल तो पैदावार ना के बराबर है।

1200 रूपए का एक आम

नूरजहां आम की साइज और स्वाद के कारण लोग इसके दिवाने हैं। पिछले साल तीन किलो के आम 1200 रूपए तक में बिके हैं। हर साल शौकिनों की संख्या बढ़ने के कारण इन्हें खरीदने के लिए बोली लगने की स्थिति तक बनने लगी है। लेकिन इस साल आम यह खास किस्म लोगों को नहीं मिल पाएगी। मंसूरी बताते हैं कि पहले नूरजहां आम का औसत वजन साढ़े चार से पांच किलो तक होता था। लेकिन पिछले कुछ सालों में तीन किलो तक के ही आम आ रहे हैं। इसका कारण जलवायु परिवर्तन और बढ़ता प्रदूषण है।

admin