स्पेन में एक हफ्ते से एक भी मौत नहीं, फ्रांस में पहली जीत का ऐलान

पेरिस

कोरोना के बीच राहत की खबर … फ्रांस में कोरोना को लेकर राष्ट्रपति ने कहा कि स्कूल, कॉलेज और नर्सरी 22 जुन से खुल जाएंगे, इसके बाद यहां अटेंडेंस के सामान्य नियम लागू होने लगेंगे

दुनिया में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच फ्रांस से एक राहत की खबर सामने आई है। राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कोरोना वायरस के खिलाफ पहली जीत का ऐलान करते हुए कहा कि फ्रांस अब खुलने को तैयार है। वहीं कोरोना वायरस को लेकर स्पेन से भी अच्छी खबर मिली। यहां पिछले एक हफ्ते में संक्रमण से एक भी मौत नहीं हुई है। फ्रांस में सोमवार से बिजनेस खोले गएे। साथ ही सभी बार, रेस्तरां और कैफे से भी प्रतबिंध हटा दिए जाएंगे। वहीं एक हफ्ते के अंदर स्कूल, कॉलेज और नर्सरी में बच्चे भी लौटने लगेंगे।

मयोटी और गुयाना को छोड़कर बाकी सभी जगहों को ग्रीन जोन कहा जा सकेगा। मयोटी और गुयाना अभी भी ऑरेंज जोन के दायरे में ही रहेंगे. पैरिस में सभी कैफे और रेस्तरां खुल सकेंगे। लेकिन देश में अभी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा और पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर मास्क जरूरी होगा। राष्ट्रपति ने ऐलान किया कि सोमवार से यूरोपियन देशों के बीच ट्रैवल की इजाजत भी होगी। इसके बाद 1 जुलाई से यूरोप के बाहर ऐसी जगहों पर जाने की इजाजत होगी जहां महामारी पर काबू पा लिया गया हो। कोरोना के कारण बंद शैक्षिक संस्थानों को लेकर मैक्रों ने कहा कि स्कूल, कॉलेज और नर्सरी 22 जुन से खुल जाएंगे। इसके बाद यहां अटेंडेंस के सामान्य नियम लागू होने लगेंगे. राष्ट्रपति ने लोगों से अपील की है कि जितना ज्यादा से ज्यादा हो सके इकट्ठा न हो क्योंकि वायरस के फैलने का यह सबसे अच्छा मौका है। इसलिए ऐसे कार्यक्रमों पर नजर भी रखी जाएगी।

उल्लेखनीय है कि फ्रांस ने एक महीने पहले 8 हफ्ते का लॉकडाउ खत्म किया था। इसके बाद से कोरोना वायरस के मामलों में बढ़त नहीं देखी गई है और जीवन पटरी पर लौटने लगा है। मैक्रों ने कहा कि अब लोग एक साथ रह सकेंगे और काम कर सकेंगे. लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि वायरस चला गया है और सतर्क रहना बंद कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि वायरस से जंग भी खत्म नहीं हुई है लेकिन पहली जीत हासिल कर ली गई है जिसके लिए वह बेहद खुश हैं। बता दें, फ्रांस में इस समय कोरोना के कुल 1.57 लाख मामले हैं। जिनमें से 72,859 लोग ठीक हो चुके हैं. जबकि 29,407 लोगों की इस महामारी से जान जा चुकी है।

चीन : बीजिंग जाने से बचें

हार्बिन और डालियान समेत चीन के 10 शहरों ने अपने नागरिकों से कहा है कि वो अगले आदेश तक बीजिंग की यात्रा न करें। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, हुआजियांग के बड़े कार मार्केट को भी बंद करने पर विचार किया जा रहा है। यह बीजिंग के करीब है और यहां हर दिन हजारों लोग जाते हैं। इसे हाई रिस्क लेवल पर रखा गया है। बीजिंग में भी लो रिस्क लेवल को बढ़ाकर मीडियम रिस्क लेवल दिया गया है।

ब्राजील : संक्रमण पर काबू नहीं, 24 घंटे में 612 मौतें

24 घंटे में ब्राजील में 612 लोगों की मौत हो गई। देश में मरने वालों का आंकड़ा 43 हजार 332 हो गया। ब्राजील की हेल्थ मिनिस्ट्री ने रविवार रात जारी आंकड़ों में बताया कि कुल 17 हजार 110 नए मामले सामने आए। अब संक्रमितों की संख्या 8 लाख 67 हजार 624 हो गई है। हेल्थ मिनिस्ट्री नई गाईडलाइंस जारी कर सकती है। इसमें शहरों में भीड़ कम करने के उपाय शामिल हो सकते हैं।

पाकिस्तान: पांच हजार से ज्यादा नए मामले आए

पाकिस्तान में कोरोनावायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। यहां पिछले 24 घंटे में 5248 नए मामले सामने आए और 97 लोगों की जान गई। पाकिस्तान के मंत्री असद उमर ने कहा है कि यहां जून के अंत तक तीन लाख और जुलाई के अंत तक 12 लाख लोग संक्रमित हो सकते हैं। पाकिस्तान में कुल संक्रमितों की संख्या अभी एक लाख 44 हजार 676 हो गई है, जबकि कुल 2729 लोगों की जान जा चुकी है।

चिली : एक हजार से ज्यादा वेंटिलेटर पर

चिली में अब तक 1 लाख 74 हजार 293 मामले सामने आ चुके हैं। 3 हजार 323 मरीजों की मौत हुई। हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक, एक दिन में करीब 6 हजार 938 नए मामले सामने आए। इसी दौरान 222 और मरीजों की मौत हुई है। फिलहाल 1 हजार 465 मरीज वेंटिलेटर पर हैं। 399 लोगों की हालत गंभीर है।

admin