अब 200 बसों को गाय के गोबर से चलाएगा पाकिस्तान

पड़ोसी देश पाकिस्तान से लेकर जब भी कोई खबर आती है तो उसमें जरूर कोई न कोई अनोखी बात जरूर होती है। फिर चाहे वह हास्यपद हो या कोई नई तरकीब पर प्रयोग।

हालांकि पिछली कुछ महीनों से पाकिस्तान महंगाई की मार झेल रहा है इसके चलते वहां खाने-पीने की चीजों से लेकर पेट्रोल-डीजल तक के दाम आसमान छू रहे हैं। इसी मुद्दे को लेकर पड़ोसी देश ने एक नई तरकीब खोजी है। पाकिस्तान अब गाय के गोबर से हाइब्रीड बसें चलाएगा। अब उसका ये प्रोजेक्ट करीब-करीब तैयार है।

पाकिस्तान ने करीब एक साल पहले इसकी घोषणा की थी जो अब शुरू होने जा रही है। जल्द ही पाकिस्तान के करांची में लोग करीब 200 बसों को गाय गोबर के गैस ईंधन से चलते देखेंगे। ये प्रयोग दुनिया का सबसे अलग किस्म का प्रयोग होगा।

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (डब्ल्यूएचओ) के ताजा आंकड़ों के अनुसार दुनियाभर में हर साल 4 मिलियन से भी ज्यादा लोगों की वायु प्रदूषण की वजह से होने वाली बीमारियों से मौत हो जाती है। रिपोर्ट में जिन देशों के नाम सबसे ऊपर हैं उनमें पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान भी शामिल है। यहां वायु प्रदूषण का स्तर इतना खतरनाक है कि हर साल 3 नवंबर से 31 दिसंबर तक का वक्त स्मॉग सीजन घोषित किया जाने लगा है।

प्रदुषण कम हो इसलिए पाक गैस से चलाएगा बसें

गाय के गोबर से बसें चलाने का प्रयोग वातावरण में ग्रीन गैसें जा सकें और प्रदूषण कम हो को देखते हुए किया गया है। इन बसों को ग्रीन बस रैपिड ट्रांजिट नेटवर्क के नाम से जाना जा रहा है, इसमें बसे 30 किमी के एक खास कॉरिडोर पर चलेंगी। इन ईंधन गाय के गोबर से बनाई गई मीथेन गैस होगी।

पाकिस्तान में 4 लाख से ज्यादा गाय-भैंस हैं। एक संस्था इनका गोबर इकट्ठा करेगी और फिर उन्हें कराची के बायोगैस प्लांट में पहुंचाकर उनसे मीथेन बनाई जाएगी। इस अनूठे प्रोजेक्ट से न केवल पाकिस्तान की हवा साफ होगी, बल्कि ये जल प्रदूषण को भी कम करने में मददगार साबित होने जा रहा है।

admin