अब इस ऐप के जरिये जान पाएंगे अस्पताल में बेड से लेकर वेंटिलेटर स्थिति

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

राजधानी में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच आज सरकार ने इस महामारी से लड़ने के लिए मोबाइल एप लॉन्च किया है। यह ऐप गूगल प्ले स्टोर पर ‘दिल्ली कोरोना’ के नाम से उपलब्ध है। 

केजरीवाल ने कहा कि हम एक ऐसा ऐप लॉन्च कर रहे है जिससे आपको पता चलेगा कि कोरोना मरीजों के लिए किस अस्पताल में कितने बेड खाली हैं और किस अस्पताल में कितने वेंटीलेटर की व्यवस्था है। इस ऐप को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। ऐप का नाम दिल्ली कोरोना है। 

रोगियों के बारे में चिंता करने की कोई जरूरत नहीं

इस दौरान केजरीवाल ने आज फिर दोहराया कि हम कोरोना वायरस से चार कदम आगे हैं। दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं, लेकिन हमने बेड, आईसीयू और वेंटिलेटर की सारी व्यवस्था की है। अगर कोई अस्पताल मरीज को भर्ती करने से मना कर देता है तो आप 1031 पर कॉल करें, हम आपको तुरंत उस अस्पताल में भर्ती करवाएंगे।

उन्होंने कहा कि कोरोना के रोगियों की चिकित्सा देखभाल के बारे में चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि हमने पर्याप्त व्यवस्था की है। यदि आपके परिवार का कोई सदस्य कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है, तो उन्हें आवश्यक चिकित्सा सेवाएं मिलेंगी।

5 जून तक मरीजों के लिए 9500 बेड तैयार होंगे

बीते दिन मुख्यमंत्री ने कहा था कि हालात पर काबू पाने के लिए राज्य सरकार हर संभव कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि 5 जून तक कोरोना मरीजों के लिए 9500 बेड तैयार होंगे।

अरविंद केजरीवाल ने कहा अस्पतालों में सिर्फ 2100 मरीज भर्ती है। आज कोई ये नहीं कह सकता है कि एक महीना या दो महीने और लॉकडाउन कर लो तो कोरोना ठीक हो जाएगा। कोरोना रहेगा, अगर कोरोना रहेगा तो कोरोना का इलाज करने का इंतजाम करना पड़ेगा। हमारी पूरी सरकार इस समय कोरोना के मरीजों का इलाज करने पर ध्यान दे रही है।

admin