छापे के लिए कार पर महाकाल दर्शन का पोस्टर लगाकर पहुंचे अफसर

विनोद शर्मा | इंदौर

’एम्पायर’ पर छापा… आयकर विभाग ने काले कुबेरों के मुखबिरों को फर्जी पोस्टर लगाकर दिया गच्चा

एम्पायर समूह और उसके भागीदारों के खिलाफ इनकम टैक्स इन्वेस्टिगेशन विंग की छापेमार कार्रवाई दूसरे दिन गुरुवार को भी जारी रही। दो दिनों में 2.53 करोड़ रुपए नकद और 5 करोड़ से ज्यादा की ज्वैलरी मिली है। गोकुलदास हॉस्पिटल से भी करीब 3 करोड़ की टैक्स चोरी से संबंधित दस्तावेज बरामद किए गए हैं। संभावना जताई जा रही है कि समूह की काली कमाई का आंकड़ा करीब 100 करोड़ तक जाएगा।

छापे की भनक किसी को न लगे, इसके लिए इनकम टैक्स इन्वेस्टिगेशन विंग ने अपनी गाड़ियों पर महाकाल यात्रा के पोस्टर चस्पा किए थे। पोस्टरों में लिखा था मकर संक्रांति महापर्व पर 17वीं महाकाल दर्शन यात्रा, सौजन्य-अखिल सवर्त संस्थान। चूंकि 15 जनवरी को मकर संक्रांति थी, इसीलिए समूह में दौड़ती इन गाड़ियों पर किसी को शंका नहीं हुई। जिसका फायदा विंग को मिला। इसीलिए बड़े पैमाने पर केश और ज्वैलरी बरामद की जा सकी।

आयकर की कार्रवाई गुरुवार दिनभर जारी रही। बताया जा रहा है कि शुक्रवार सुबह-दोपहर तक कार्रवाई पूरी हो जाएगी। फिलहाल 2.53 करोड़ नकद और 5 करोड़ की ज्वैलरी मिली है। 14 लॉकर भी मिले हैं। डिपार्टमेंट को उम्मीद है कि इन्हें ऑपरेट करते वक्त बड़े पैमाने पर केश-ज्वैलरी मिल सकती है।

कच्ची पर्चियों पर बड़ा कारोबार

एम्पायर समूह और उससे जुड़ी कंपनियों के पास से कच्ची पर्चियों और जमाखर्चियों में बड़ा कारोबार मिला है। बड़ी तादाद में ऐसे डॉक्यूमेंट भी मिले हैं जो वास्तविक लेन-देन बयां करते हैं।

गोकुलदास हॉस्पिटल… तीन करोड़ की टैक्स चोरी उजागर

विजय अग्रवाल और अरुण गोयल के हिसाब-किताब में मिली कैश ट्रांजेक्शन की डिटेल के आधार पर विंग ने गोकुलदास हॉस्पिटल पर छापामार कार्रवाई की थी। कार्रवाई के दौरान अस्पताल से ऐसे दस्तावेज मिले हैं जो 3 करोड़ की टैक्स चोरी उजागर करते हैं।

admin