सबसे बूढ़े मलेशियाई प्रधानमंत्री ने दिया इस्तीफ़ा

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। अभी तक दुनिया के सबसे बूढ़े प्रधानमंत्री के रूप में जाने जाने वाले महातिर ने आज एक ट्वीट कर बताया अब वो अपने पद से इस्तीफ़ा दे रहे हैं। मलेशियाई प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद के इस इस्तीफ़े के पीछे राजनीतिक खींचतान बताई जा रही है। 94 साल के महातिर मोहम्मद दुनिया के सबसे बूढ़े प्रधानमंत्री के तौर पर जाने जाते थे।

महातिर मोहम्मद वर्ष 1981 से 2003 तक लगातार मलेशिया के प्रधानमंत्री रहे। इसके बाद 2018 में इन्होंने नजीब रज्जाक को हराकर सत्ता में वापसी की थी। महातिर मोहम्मद के इस्तीफे की पीछे की वजह अनवर इब्राहिम के बीच खींचतान मानी जा रही है। पिछले कुछ वक्त से इन दोनों के बीच मनमुटाव बढ़ गया था जिसके बाद पूर्व पीएम मोहम्मद ने अपना इस्तीफा मलेशिया के सुल्तान अब्दुल्ला सुल्तान अहमद शाह को सौंप दिया।

72 साल के अनवर इब्राहिम उनके साथ सहयोगी के तौर पर गठबंधन में शामिल थें, जिन्हें महातिर ने समय आने पर अपना पद सौंपने का भरोसा दिया था। लेकिन अब अफ़वाह यह चल रही है कि महातिर मोहम्मद नया गठबंधन बनाकर सत्ता में वापसी कर सकते हैं।

कश्मीर मामले में महातिर ने पाकिस्तान के समर्थन में बयान दिया था जिसके बाद भारत ने मलेशिया से अपना कारोबारी रिश्ता खत्म कर दिया था। भारत ने मलेशिया से पॉम आयल लेना बंद कर दिया जिसकी वजह से उसे काफी नुकसान उठाना पड़ा था।

आगे क्या होगा इस बारे में फिलहाल कुछ भी स्पष्ट नहीं है। अनवर राजा से मुलाकात करने वाले हैं। विश्लेषकों का कहना है कि अनवर राजा को इस बात पर सहमत करने की उम्मीद कर रहे होंगे कि उनके पास सरकार बनाने के लिए पर्याप्त सांसदों का समर्थन है। हालांकि महातिर की पार्टी बरसातू ने भी घोषणा की कि वे ‘पैक्ट ऑफ होप’ गठबंधन से अलग हो रहे हैं। इससे लग रहा है कि वे खुद सरकार बनाने का प्रयास कर रहे हैं।

admin