अदालतों में पहली बार निरस्त हुई एक माह की गर्मी की छुट्टियां

मांगीलाल चौहान | इंदौर

जिला कोर्ट में 30 मई तक के सूचीबद्ध प्रकरणों की अब जुलाई में की जाएगी सुनवाई , 58 वें दिन रही अदालतें बन्द, लम्बी खींच गई लम्बित प्रकरणों की तारीखें

न्यायिक इतिहास में लॉक डाउन के कारण सभी अदालतों के लिए निरस्त हुई गर्मी की छुट्टियां लॉक डाउन के ही कारण आधी यानि 15 दिन की ही रह गई है। छुट्टियां निरस्त होने के कारण जिला अदालतों में 18 मई से 30 मई तक के सूची बद्ध किए प्रकरणों की सुनवाई अब 8 जुलाई से 23 जुलाई तक होगी। इस कारण लम्बित प्रकरणों की सुनवाई की तारीखें काफी पिछड़ गई हैं।

कोरोना महामारी के कारण देश में गत 25 मार्च से लॉक डाउन जारी है किंतु हाई कोर्ट इंदौर व जिला कोर्ट सहित मप्र की सभी अदालतें दो दिन पहले यानि 23 मार्च से बंद हैं। सोमवार को अदालतें बंद रहने का 58 वां दिन था। देश की अदालतों में हर साल मई–जून में ग्रीष्मकालीन यानि एक माह की गर्मी की छुट्टियां रहती है। इस दौरान केवल हाई कोर्ट में अर्जेंट केस की सुनवाई हर सोमवार व गुरुवार को अवकाशकालीन जजों के समक्ष होती है और जिला कोर्ट में केवल फौजदारी केस सुने जाते हैं, क्लेम सहित सिविल केस पूरे माह नहीं सुने जाते। इस साल लॉक डाउन के कारण लंबी अवधि तक अदालतें बन्द रहने से न्यायिक इतिहास में पहली मप्र में 18 मई से 12 जून तक होने वाला ग्रीष्मकालीन अवकाश मप्र हाई कोर्ट ने निरस्त कर दिया है।

सोमवार से नहीं हो सकी सुनवाई

लॉक डाउन का तीसरा चरण 17 मई को समाप्त होने वाला था। ग्रीष्मावकाश निरस्त होने के कारण दूसरे दिन 18 मई से प्रकरणों की सुनवाई शुरू होना थी किन्तु लॉक डाउन 31 मई तक बढ़ने से सोमवार से सुनवाई नहीं हो सकी। जिला एवं सत्र न्यायाधीश सुशील कुमार शर्मा द्वारा सोमवार को जारी आदेश के अनुसार 18 मई से 30 मई तक सुनवाई के निर्धारित प्रकरणों की सुनवाई अब 8 जुलाई से 23 जुलाई तक होगी। इस कारण प्रकरणों की सुनवाई काफी पिछड़ गई है।

जिला कोर्ट में रोज दो घंटे अर्जेंट केस सुनेंगे छह जज

लॉक डाउन के कारण 31 मई तक अर्जेंट प्रकरणों की सुनवाई के लिए जिला जज सुशील कुमार शर्मा ने रोज छह-छह सेशन जजों की ड्यूटी लगाई है। जज सिर्फ दो घंटे दोपहर 3 बजे से 5 बजे तक कोर्ट में बैठेंगे। उधर हाई कोर्ट चीफ जस्टिस ने आदेश जारी कर 30 मई तक वीडियो कांफ्रेंसिंग से अर्जेंट प्रकरणों की सुनवाई जारी रखने के निर्देश दिए हैं।

admin