स्कूल में आती है सिर्फ एक बच्ची, खुलता है हररोज

नई दिल्ली

गया से 20 किलोमीटर दूर मनसा बिगहा का एक सरकारी स्कूल जहां हर रोज सिर्फ एक छात्रा पढ़ने आती है। वो पहली क्लास में पढ़ती हैं। छात्रा का नाम जाह्नवी कुमारी है। यहां तक कि हर रोज 2 शिक्षक उसे पढ़ाने भी पहुंचते हैं। ऐसा नहीं है कि मनसा बिगहा के बाकी बच्चे पढ़ते नहीं।

इस गांव में सिर्फ 35 परिवार रहते हैं। बाकी बच्चे खिजरसराय के स्कूल में चले जाते हैं। ऐसे में मनसा बिगहा के सरकारी स्कूल में सिर्फ जाह्नवी जाती हैं। इंडिया टाइम्स के मुताबिक, मिड डे मील योजना के तहत जाह्ववी के लिए भोजन भी बनता है। इस स्कूल में चार कमरे हैं। स्कूल के प्रधानाध्यापक हैं सत्येंद्र प्रसाद। वो कहते हैं कि उन्होंने इलाके के लोगों से जाकर इस स्कूल में अपने बच्चों का दाखिला करवाने के लिए अनुरोध भी किया। लेकिन किसी ने रूचि नहीं दिखाई।

ज्यादा बच्चे प्राइवेट स्कूल में जाते हैं पढ़ने

सत्येंद्र प्रसाद ने बताया कि पूरे स्कूल में नौ छात्र नामांकित हुए हैं। लेकिन उनमें से अकेले जाह्ववी ही हैं जो यहां पढ़ने आती हैं। उन्होंने बताया कि इलाके के ज्यादातर लोग बच्चों को प्राइवेट स्कूल में पढ़ने भेजते हैं। गांव के लोग सपन्न हैं। इसलिए बच्चों को 1 किलोमीटर दूर निजी स्कूल में भेज देते हैं। ऐसे में जाह्ववी की लगन और टीचर्स की मेहनत बताती है कि बच्चे चाहे जितने भी हों, यह स्कूल ऐसा है जो शिक्षा की लौ जगा रहा है।

admin