इटली में सिनेमाहॉल, थियेटर, म्यूजियम बंद करने के आदेश

रोम

इटली में मरने वालों की संख्या 233 पहुंची, करीब 6000 लोग संक्रमित

इटली ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के अपने प्रयासों के तहत देश भर के सिनेमाहॉल, थियेटरों और म्यूजियम को बंद रखने का आदेश दिया है। प्रधानमंत्री ग्यूसेप कोंटे के हस्ताक्षर वाले शासनादेश में यह जानकारी दी गई है।

सरकारी वेबसाइट पर प्रकाशित आदेश के मुताबिक उत्तरी इटली के कई इलाकों में 1.5 करोड़ लोगों को जबरन घरों में बंद रखने के अलावा सरकार ने देश भर में स्कूलों, नाइट क्लबों और कसीनो को भी बंद कर दिया है। चीन के बाहर कोविड-19 से सर्वाधिक प्रभावित देशों में इटली का नाम सबसे ऊपर है जहां अब तक इस घातक बीमारी के चलते 230 से ज्यादा लोगों की जान चली गई है और दक्षिण कोरिया के बाद वह तीसरा सबसे अधिक प्रभावित देश है। इटली में कोरोना वायरस के संक्रमण से शनिवार को और 36 लोगों की मौत के साथ देश में इससे मरने वालों की संख्या 233 तक पहुंच गई। वहीं, एक दिन में सबसे अधिक 1,247 नए मामले सामने आए हैं जिससे संक्रमितों की तादाद 5,883 हो गई है। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, शुक्रवार को गंभीर हालात में अस्पताल में भर्ती संक्रमितों की संख्या 462 से बढ़कर 567 हो गई है। इटली की सरकार यह देख रही है कि क्या अपेक्षाकृत संपन्न उत्तरी हिस्सों से कोरोना वायरस का संक्रमण गरीब दक्षिणी इलाकों में तो नहीं फैल रहा, जहां पर चिकित्सा के कम संसाधन हैं। उल्लेखनीय है कि इटली के सभी 22 क्षेत्रों से कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले सामने आए हैं।

उपचार के लिए ट्रायल दवा में मिली सफलता

चीन ने कोरोना वायरस पर लगाम लगाने के लिए इसके इलाज को लेकर राहत भरी खबर आई है। चीन ने कोरोना के लिए दवाओं एवं उपचार का विस्तार में सफलता हासिल करते हुए एक ऐसी दवा तैयार की है जिससे हल्के मामले गंभीर नहीं बन सके और गंभीर रूप से बीमार रोगियों को भी बचाया जा सके। स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि दवा टोसिलिजुमैब जिसका सामान्य ब्रांड नाम एक्टेरमा है, को कोविड-19 के जांच एवं उपचार में शामिल किया गया। चाइनीज एकेडमी ऑफ साइंसेज के उप महासचिव झाउ क्वी ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कोरोना के उपचार में टोसिलिजुमैब काफी प्रभावी साबित हो रही है। झाउ ने बताया कि शुरुआती क्लीनिकल ट्रायल में टोसिलिजुमैब का प्रयोग कोविड-19 के 20 गंभीर मामलों में किया गया और सभी रोगियों के शरीर का तापमान एक दिन के अंदर नीचे आ गया।

admin