हॉलीवुड की अनुबंध व्यवस्था को चुनौती देने वाली ऑस्कर विजेता ओलिविया डी हैविलैंड का निधन

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। 

दो बार की ऑस्कर विजेता हॉलीवुड अभिनेत्री ओलिविया डी हैविलैंड का निधन हो गया है। पेरिस में घर पर उनकी नींद में सोते हुए ही प्राकृतिक कारणों से मृत्यू हो गई।

न्यूयॉर्क की प्रचारक लीजा गोल्बर्ग ने बताया कि हैविलैंड ने रविवार शाम को पेरिस स्थित अपने घर में आखिरी सांस ली।

हैविलैंड फिल्म की आखिरी जीवित कलाकार थी

वह ऑस्कार पुरस्कार विजेता जोन फोंटेन की बहन थी। हैविलैंड  “गॉन विद विंड“ में नजर आई थी। यह फिल्म 1939 में आई थी। वह इस फिल्म की आखिरी जीवित कलाकार थी।वह स्टूडियो युग की आखिरी शीर्ष कलाकारों में शामिल थी।

उन्होंने 1940 के दशक में हॉलीवुड की अनुबंध व्यवस्था को चुनौती दी थी। अपने छह दशक के करियर में हैविलैंड ने अलग-अलग किरदार निभाएं।

अपने किरदार के लिए उन्हें ऑस्कर भी मिला था

हैविलैंड का जन्म एक जुलाई 1916 में टोक्यो में ब्रिटिश पेटेंट अटॉर्नी के यहां हुआ था। जब वह तीन साल की थी, उनके माता-पिता अलग हो गए थे। उनकी मां उन्हें और उनकी बहन जोन को कैलिफोर्निया ले आई थी।

ओलिविया को 1946 की फिल्म ‘टू ईच हिज़ ओन’ और 1949 की ‘द एरस’ में अपने किरदार के लिए ऑस्कर मिला था। हैविलैंड ने दो शादियां की। पहली लेखक मार्कस गुडरिच से और दूसरी पत्रकार पैरी ग्लांते से। लेकिन दोनों बार उनका तलाक हो गया था।

वह अभी तक 49 फिल्मों में दिखाई दी हैं

हॉलीवुड रिपोर्टर डॉट कॉम की एक रिपोर्ट के अनुसार, अंतिम संस्कार को बहुत निजी रखने की व्यवस्था की जा रही है।

जापान में जन्मी ब्रिटिश-अमेरिकी अभिनेत्री का 1935 से 1988 तक पांच दशकों से ज्यादा का फिल्मों में सक्रिय करियर रहा, इस दौरान वह 49 फिल्मों में दिखाई दीं। उन्हें हॉलीवुड के स्वर्ण युग के प्रमुख सितारों में से एक माना जाता था।

admin