धमाके से दहला पाकिस्तान, 10 लोगों की मौत, 35 गंभीर घायल

कराची

पुलिस वाहन को निशाना बनाकर किया गया आत्मघाती धमका, दो पुलिस जवान मृत

पाकिस्तान में बलुचिस्तान के क्वेटा में एक भीषण बम धमाके में 10 लोगों की मौत हो गई जबकि 35 अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। समाचार एजेंसी रॉयटर की रिपोर्ट के मुताबिक, यह एक आत्मघाती धमाका था, जिसे एक पुलिस वाहन को निशाना बनाकर अंजाम दिया गया। धमाके में दो पुलिससकर्मियों की भी मौत हो गई।

बलूचिस्तान में कोर्ट के नजदीक धमाका, कई वाहन क्षतिग्रस्त

Pakistan Bombing

‘द डॉन’ के मुताबिक, यह ब्लास्ट उस वक्त हुआ जब शाहराह-ई-अदालत के नजदीक क्वेटा प्रेस क्लब में प्रदर्शन हो रहा था। इलाके में कई वाहन पार्क थे जो इस ब्लास्ट की चपेट में आ गए। ब्लास्ट के बाद सुरक्षाकर्मियों ने इलाके को घेर लिया। अधिकारियों ने बताया कि ब्लास्ट में किस तरह के बम का इस्तेमाल किया गया था अभी यह पता नहीं चल पाया है। उधर, क्वेटा सिविल अस्पताल के प्रवक्ता वसीम बेग ने बताया कि घटना में 10 लोगों की मौत हुई है और 35 घायल हुए हैं, जिन्हें वहां लाया गया था। वहीं, बलूचिस्तान के आंतरिक मंत्री ने बताया कि घायलों की संख्या बढ़ सकती है।

पाक अब नहीं आतंकियों का पनाहगाह

इस्लामाबाद

दुनियाभर में टेरर फंडिंग के खिलाफ कार्रवाई करने वाले कार्यबल एफएटीएफ की पैरिस में होने वाली अहम बैठक से पहले पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई के दावे करने शुरू कर दिए हैं। उन्होंने सोमवार को कहा कि उनका देश अब आतंकवादी संगठनों के लिए सुरक्षित पनाहगाह नहीं है। हालांकि उन्होंने सार्वजनिक रूप से माना कि शायद पहले ऐसा नहीं था। बता दें कि पाकिस्तान टेरर फंडिंग के खिलाफ पर्याप्त कदम नहीं उठाने को लेकर एफएटीएफ की काली सूची में डाले जाने से बचने की कोशिश में जुटा है। देश में अफगान शरणार्थियों की मेजबानी के 40 साल पूरे होने पर एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान में शांति चाहता है और युद्ध प्रभावित इस देश में स्थायित्व उसके हित में है।

admin