तीन के बजाय अब 17 दिन में दोगुने हो रहे मरीज, रिकवरी रेट 46 फीसदी

प्रजातंत्र ब्यूरो | भोपाल

लॉकडाउन-4… इंदौर, उज्जैन पूरी तरह रहेंगे लॉक, सात जिले रेड बाकी सभी ग्रीन

लॉकडाउन-4 में प्रदेश में सिर्फ रेड और ग्रीन जोन होंगे। राज्य में अब ऑरेंज जोन नहीं रहेंगे। इंदौर, भोपाल, उज्जैन, जबलपुर, बुराहानपुर, खंडवा और देवास रेड जोन में बाकी सभी जिले ग्रीन जोन में होंगे। रेड जोन के कंटेनमेंट एरिया में किसी तरह की गतिविधियां शुरू नहीं होंगी। ग्रीन जोन में सभी तरह की गतिविधियां सोशल डिस्टेंसिंग के साथ शुरू हो सकेंगी।

यह घोषणा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की। शाम सात बजे से सुबह सात बजे तक कहीं भी आना-जाना प्रतिबंधित रहेगा। इंदौर और उज्जैन पूरी तरह से लॉक रहेगा। राजधानी भोपाल में ग्रामीण क्षेत्र खुल सकेगा।

सतर्कता बनाए रखेंगे तो जल्द पूरा प्रदेश होगा कोरोना मुक्त

मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश में हम काफी हद तक कोरोना को नियंत्रित करने में सफल रहे हैं। प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मरीजों की रिकवरी रेट अब बढ़कर 46% हो गई है। रिकवरी रेट एक मई काे 19.3% थी। कोरोना प्रकरणों के दोगुना होने की दर 01 अप्रैल को 03 दिन थी, जो कि 01 मई को बढ़कर 14 दिन हो गई। वर्तमान में यह दर 17.2 दिन है, जो कि जल्दी ही 20 दिन हो जाएगी।

मुख्यमंत्री ने बताया कि कोरोना के कारण प्रदेश की अर्थव्यवस्था बेपटरी हुई है परंतु हमने गरीबों, मजदूरों, किसानों, बच्चों आदि की सहायता के लिए 16 हजार करोड़ रूपए से अधिक की राशि उनके खातों में दी है।

जान के साथ जहान भी बचाना है

मध्यप्रदेश में लॉकडाउन-4 अलग ढंग एवं अलग स्वरूप में होगा। हमें जान के साथ जहान भी बचाना है। इसलिए पूरे प्रदेश को दो जोन रेड एवं ग्रीन में बांटा गया है। सतर्कता बरकरार रहेगी।

  • शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री

भोपाल ग्रामीण खुलेगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे प्रदेश को दो जोन रेड एवं ग्रीन में बांटा गया है। रेड जोन में इंदौर, उज्जैन जिले का संपूर्ण क्षेत्र, भोपाल, बुरहानपुर, जबलपुर, खंडवा एवं देवास के शहरी क्षेत्र तथा मंदसौर, नीमच, धार व कुक्षी के शहरी क्षेत्र होंगे। प्रदेश के शेष सभी जिले ग्रीन जोन में रखे गए हैं। एक सप्ताह तक यहाँ बाजार बंद रहेंगे तथा इसके बाद समीक्षा कर निर्णय लिया जाएगा।

रेड जोन में ये हो सकेगा

रेड जोन के अंतर्गत मोहल्ले की दुकानें, रहवासी परिसर की दुकानें तथा आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुली रहेंगी। ऑनलाइन शिक्षण चालू रहेगा। मेडिकल, पुलिस सेवा, क्वारेंटाईन सेंटर व अन्य जरूरतमंद लोगों के भोजन के लिए जरूरी होटल, बस डिपो, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट में संचालित कैंटीन, होम डिलेवरी करने वाले रेस्टोरेंट के किचन, सभी प्रकार का माल परिवहन, कार्गो मूवमेंट तथा उनके खाली वाहनों का मूवमेंट जारी रहेंगे।

ग्रीन जोन में ये रहेगी छूट

ग्रीन जोन सभी क्षेत्रों में कोई पाबंदी नहीं रहेगी, सभी दुकानें एवं बाजार खुले रहेंगे, सब्जी मंडियां खुलेंगी, निजी व शासकीय कार्यालय पूरी क्षमता से चलेंगे। निजी वाहनों से आवागमन किया जा सकेगा। यदि किसी ग्रीन जोन जिले में पॉजिटिव प्रकरण बढ़ते है तो वह रेड जोन में परिवर्तित किया जा सकेगा। अपना जिला ग्रीन बना रहे इसके लिए सभी सावधानियां बरतें।
प्रदेश में कोई ऑरेंज जोन नहीं है।

इंदौर की सबसे बुज़ुर्ग मरीज 88 साल की मुक्ता जैन ने जीती कोरोना से जंग

इंदौर। सप्ताह की शुरुआत अच्छी रही। सोमवार को अरविंदों अस्पताल से सोमवार को 55 मरीज कोरोना के खिलाफ जंग जीतकर घर लौटे। इनमें नेहरूनगर की मुक्ता जैन भी शामिल है। 88 साल की उम्र के बावजूद जैन की हिम्मत और जीतने की जिद के आगे कोरोना टिक नहीं पाया। जिला प्रशासन के अनुसार मुक्ता सबसे उम्र दराज कोरोना वॉरियर हैं जो डिस्चार्ज हुई हैं। इसके साथ ही डिस्चार्ज होने वाले पेशेंट की कुल संख्या 1174 हो गई है। जबकि कुल संक्रमित 2565 हैं। अरबिंदो से डिस्चार्ज चेतन तलाटी, पूर्वी जैन, रीना सोनी ने हॉस्पिटल स्टाफ की सेवा के साथ प्रशासनिक प्रयासों की सराहना की। डिस्चार्ज हुए परदेशीपुरा थाने के पुलिसकर्मी धर्मेन्द्र जाट ने कहा लोग सावधानी बरतें।

जून से सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल : कलेक्टर

कोविड मरीजों के लिए सुपर स्पेशलिटी अस्पताल जून के पहले सप्ताह में काम करना शुरू कर देगा। कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया भवन तैयार है। नए टेंडर में वक्त लगेगा इसलिए अन्य जगह के टेंडर के आधार पर सामग्री इंदौर आएगी। इससे यहां पर 500 बेड उपचार के लिए तैयार हो जाएंगे। इसमें सौ आईसीयू के रहेंगे।

admin