बेंगलुरू हिंसा में पीएफआई के राजनीतिक धड़े का हाथ

नई दिल्ली/बेंगलुरू

एसडीपीआई नेता गिरफ्तार, 7 एफआईआर दर्ज

मंगलवार देर रात बेंगलुरू में हुई हिंसा की शुरुआती जांच में इस्लामिक कट्टरपंथी संगठन पीएफआई के राजनीतिक धड़े एसडीपीआई का हाथ सामने आया है। यह पाया गया है कि 4,000 लोगों की भीड़ ने सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) के समर्थन से बेंगलुरु के एक थाने और स्थानीय कांग्रेस विधायक के घर पर लूटपाट और आगजनी की घटना को अंजाम दिया। इस मामले में पुलिस ने एक स्थानीय एसडीपीआई नेता मुजम्मिल पाशा को भी गिरफ्तार किया है।

आरोपी पाशा पहले सगायपुरा वार्ड से बीबीएमपी (ब्रुहत बेंगलुरु महानगर पालिके) का चुनाव भी लड़ चुका है। पुलिस ने हिंसा मामले में 7 एफआईआर दर्ज की हैं। इनमें एसडीपीआई के 16 सदस्यों को नामजद किया गया है। डीजे हल्ली और केजी पुलिस थानों में दर्ज एफआईआर में कुल 300 लोगों को नामजद किया गया है।
एसडीपीआई, पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) का राजनीतिक संगठन है। पीएफआई वही संगठन है, जिसपर सीएए के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान दिल्ली दंगों में हाथ होने का आरोप है।

admin