दस लाख रुपए प्रति लीटर बिक रहा प्लाज्मा

मुंबई

कोरोना संकट के बीच ब्लैक मार्केटिंग

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने प्लाज्मा की कालाबाजारी पर बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने बताया है कि डार्क नेट पर 10 लाख रुपए प्रति लीटर प्लाज्मा बिक रहा है। मुंबई और आस-पास के इलाकों में प्लाज्मा रैकेट काम कर रहा है। यह रैकेट लोगों डार्क नेट पर अपने आप को कोरोना से ठीक हुआ मरीज बताता है, और प्लाज्मा देने के लिए जरूरतमंदों से बड़ी रकम वसूलता है। राज्य सरकार ने मुंबई पुलिस और साइबर सेल को जांच के आदेश दे दिए हैं।
डार्क नेट का इस्तेमाल मानव तस्करी, मादक पदार्थों की खरीद और बिक्री, हथियारों की तस्करी जैसी अवैध गतिविधियों में किया जाता है।

महाराष्ट्र में सबसे बड़ा प्लाज्मा ट्रायल

जून महीने में खबरें आई थीं कि महाराष्ट्र में दुनिया का सबसे बड़ा प्लाज्मा ट्रायल होने जा रहा है। राज्य सरकार का मेडिकल एजुकेशन एंड ड्रग डिपार्टमेंट इस ट्रायल को लीड कर रहा है। इस ट्रायल के जरिए प्लाज्मा थेरेपी का प्रभाव जानने की कोशिश की जाएगी। इस ट्रायल को अनुमति ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने दी है। ये ट्रायल राज्य के 17 मेडिकल कॉलेज और बीएमसी के अंतर्गत किया जाएगा।

 

admin