बेटी की लाश से लिपटे पिता को पुलिस ने लात मारी

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक परेशान करने वाले वीडियो में, तेलंगाना के एक सिपाही को एक व्यथित पिता को मारते हुए देखा गया। जिसने अभी-अभी अपनी किशोरी बेटी को खोया है।

तेलंगाना की ये घटना 26 फरवरी की बताई जा रही है। इसका वीडियो वायरल हो रहा है। पुलिस पर लड़की के पिता से बुरा बर्ताव करने के आरोप लग रहे हैं। हालांकि पुलिस ने कहा है कि शव को पोस्टमॉर्टम के लिए ले जाना था, लेकिन वो शख्स उन्हें रोकने की कोशिश कर रहा था।

उस शख्स का नाम एस. चंद्रशेखर है। उनकी बेटी संध्या रानी (16 साल) ने हैदराबाद के पतंचेरू में नारायण आवासीय कॉलेज में मंगलवार को कथित तौर पर आत्महत्या कर ली। लेकिन, परिवार ने आरोप लगाया है कि प्रबंधन ने किशोरी की हत्या कर दी और इसे आत्महत्या करार दिया है।

मृतक की मां के अनुसार, “लड़की अस्वस्थ थी और दो दिन पहले तेज बुखार की शिकायत की थी। परिवार का कहना है कि हॉस्टल अधिकारियों ने उस पर कोई ध्यान नहीं दिया था। कुछ घंटे बाद, दोपहर के आसपास, छात्रावास ने परिवार को सूचित किया कि लड़की ने छात्रावास के बाथरूम में फांसी लगा ली है।”

सांगारेड्डी की प्रभारी पुलिस अधीक्षक चंदना दीप्ति ने बताया, “संध्या के परिजन जबरन उसके शव को कॉलेज ले गए। वहां वे प्रदर्शन करने लगे। इस दौरान पुलिस संध्या के शव को कब्जे में लेने का प्रयास करने लगी, जिससे उसके पिता लटक गए। इसी दौरान सिपाही ने उनके साथ बर्बरता की। आरोपित सिपाही श्रीधर के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।”

राज्य के कैबिनेट मंत्री ने मामले पर संज्ञान लेते हुए गृहमंत्री व डीजीपी से बात की। उन्होंने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। वहीं बीडीएल भानुर थाने के सर्कल इंस्पेक्टर राम रेड्डी ने कहा कि वीडियो में पूरी बात नहीं है, जिसकी वजह से घटना हुई। उन्होंने आगे कहा, “हम पर पत्थर फेंके गए। उन्होंने शवगृह के दरवाज़ा तोड़ दिया और शव को जबरदस्ती ले जाने की कोशिश की। वो शव को कॉलेज हॉस्टल ले जाना चाहते थे और धरने पर बैठना चाहते थे। हमें शव को वापस लेना था और इस प्रक्रिया में दुर्घटनावश ऐसा हुआ है।”

admin