उत्तर प्रदेश की राजधानी में लगे उपद्रवियों के पोस्टर, जारी किया गया फरमान

विभव देव शुक्ला

नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर विरोध पूरे देश ने देखा। देश की एक बड़ी आबादी ने इस कानून को लेकर विरोध किया। कुछ जगहों पर विरोध का तरीका सामान्य था लेकिन कुछ मौकों पर ठीक इसका उल्टा था। ऐसे मामलों में सबसे बड़ी चुनौती सरकार के सामने थी।
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी कुछ ऐसे ही हालात बने थे। विरोध के दौरान कई जगहों पर हालात बिगड़ गए थे यह सब देख कर उत्तर प्रदेश सरकार ने सख्त कदम उठाए थे। उस सख्त कदम का नतीजा अभी तक सामने नज़र आ रहा है।

लगाई गई हैं तस्वीरें
दरअसल उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में उन उपद्रवियों के पोस्टर लगाए गए हैं जिन्होंने विरोध के दौरान माहौल बिगाड़ने की कोशिश की। जिस दौरान पूरे देश में नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर विरोध जारी था उस दौरान लखनऊ के कई इलाकों में भी विरोध हुआ था।
देखते ही देखते हालात बिगड़े और तमाम जगहों पर उपद्रव की घटनाएँ हुईं। तभी उत्तर प्रदेश सरकार ने ऐलान किया कि जो व्यक्ति इस तरह की घटनाओं में शामिल पाया जाएगा सरकार सार्वजनिक संपत्ति को हुए नुकसान का जुर्माना उन लोगों से वसूलेगी।

क्या लिखा है पोस्टर में
पोस्टर में उपद्रव करने वालों की तस्वीरें और जानकारी भी मौजूद है। पोस्टर में ऊपर ही लिखा है कि ‘लखनऊ के हज़रतगंज क्षेत्र में सरकारी/निजी संपत्ति को दिनांक 19/12/19 की हिंसा में क्षति पहुंचाने के संबंध में नियत तिथि तक पूरी वसूली की रकम जमा करना सुनिश्चित करें।
अन्यथा की स्थिति में संबन्धित व्यक्ति की सम्पत्तियों को नियमानुसार कुर्क करके निर्धारित धनराशि वसूल की जाएगी।’ इसके अलावा पोस्टर में यह भी लिखा है कि शहर भर में कितने का नुकसान हुआ और लोगों से कितने का जुर्माना वसूला जाएगा।

admin