इन शर्तों के साथ फ़िल्म और सीरियल्स की शूटिंग होने की तैयारी

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

कोरोना वायरस के बीच भारत सरकार अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए धीरे-धीरे संस्थानों और दुकानों को खोलने की इजाज़त दे दी है। लॉकडाउन 3.0 में कई प्रकार की आर्थिक गतिविधियों की छूट भी दी गई है। ऐसे में लोग टीवी शोज़ और फ़िल्मों की शूटिंग को लेकर भी उम्मीद लगा रहे हैं।

जैसे-जैसे केन्द्र सरकार ने लॉकडाउन में ढ़ील देनी शुरु की है, सभी भारतीय सिने एसोसिएशंस आगे की योजना बनाने में जुट गए हैं। हालातों को देखते हुए शुटिंग के लिए एक नई अस्थाई गाइडलाइन पर विचार किया जा रहा है, ताकि जुलाई के महीने से शुटिंग का रुका हुआ काम एक बार फिर से शुरू किया जा सके।

इन सेफ्टी रूल्स के साथ पर्दे पर वापसी करेंगे एक्टर्स

इस मीटिंग को लीड कर रहे फिल्ममेकर सिद्धार्थ रॉय कपूर ने सभी आर्टिस्ट और क्रू मेंबर्स की सुरक्षा के लिए सेफ्टी रूल्स बनाए हैं। सिद्धार्थ रॉय कपूर टीवी एंड फिल्म प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया के प्रमुख हैं। 

मुंबई मिरर से बात करते हुए अशोक ने कहा, “हमने सिने एसोसिएशन से कल बात की। हम गाइडलाइन्स बना रहे है कि कैसे शूटिंग की शुरुआत कर सकते हैं। हमारे मुख्य लोग आर्टिस्ट और टेक्नीशियन हैं। हमने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बात की थी और हम एक मसौदे पर काम कर रहे हैं कि काम करने की स्थिति क्या हो सकती है। हम शनिवार को फिर से एक वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बात करेंगे और तय करेंगे कि हम कैसे आगे बढ़ सकते हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “अभी कुछ भी तय नहीं हुआ है। मुंबई रेड जोन में हैं और 17 मई तक कम से कम लॉकडाउन होगा। हम अभी शूटिंग करने की सोचने नहीं रहे हैं। हमने सिद्धार्थ रॉय कपूर के साथ भी बात की है और उन्होंने कहा है कि हम इंडियन मोशन पिक्चर प्रोड्यूसर्स के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंस कॉल करेंगे।  इंडियन फिल्म और टेलीविजन प्रोड्यूसर्स काउंसिल (IFTPC) और वेस्टर्न इंडिया फिल्म प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन इस मामले पर मिलकर आगे बढ़ेंगे।”

इन नई गाइडलाइन्स के मुताबिक जुलाई में पूरे क्रू के स्वैब टेस्ट करवाएं जाने चाहिए और उन्हें रिपोर्ट आने के बाद ही काम पर बुलाया जाए। हर सुबह यूनिट के हर सदस्य का तापमान मापा जाना जरूरी होना चाहिए। एक्टर्स को अपने घर से ही मेकअप करके आना होगा। एक्टर्स को अपने बालों को भी खुद ही घर पर संवारना होगा। यानी एक्टर पूरी तरह से घर पर तैयार होंगे और फिर ही सेट पर पहुंचेंगे। एक्टर्स को अपने साथ केवल उनके स्टाफ मेंबर्स को ही लाने की अनुमति होगी।

गंगूबाई काठियावाड़ी अब जल्द ही बड़े पर्दे पर दिखेगी

15 मार्च तमाम फिल्मी संस्थाओं की एक मीटिंग हुई थी। इसमें ये फैसला लिया गया था कि कोरोनावायरस संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए फिल्म-टीवी शोज़-वेब शोज़ की शूटिंग कैंसिल करनी पड़ेगी। शुरुआत में ये रोक 19 मार्च से लेकर 31 मार्च तक थी। मीटिंग में ये तय हुआ कि आगे का फैसला परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए लिया जाएगा। लेकिन तब से लेकर अब तक परिस्थितियां बद से बदतर ही होती चली गईं हैं। शूटिंग्स को कैंसिल हुए पौने दो महीने हो चुके हैं।

फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लाइज़ के प्रेसिडेंट बीएन तिवारी ने बताया कि फिलहाल वो ये सोच कर चल रहे हैं, कि जुलाई के महीने में फिल्मों की रूकी हुई शुटिंगस को शुरू कर दिया जाएगा।

बीएन तिवारी ने कहा, “किसी की भी जान को खतरे में नहीं डाला जा सकता। गंगूबाई काठियावाड़ी और मैदान जैसी फिल्मों की शुटिंग रुकी पड़ी है। सभी आर्टिस्ट स्थिति की गंभीरता को समझते हैं।  इतना ही नहीं, मीटिंग में सेट पर काम करने वाले सभी लोगों के जीवन बीमा करने की बात पर भी विचार किया गया है।”


admin