किताब बेचने के लिए झूठ बोल रहे हैं राकेश मारिया

नई दिल्ली

छोटा शकील ने कहा… डी कंपनी को नहीं मिली थी अजमल कसाब की सुपारी

पूर्व आईपीएस ऑफिसर और मुंबई पुलिस के कमिश्नर रह चुके राकेश मारिया ने अपनी किताब में मुंबई में 26/11 को हुए आतंकी हमले में एकमात्र जिंदा गिरफ्तार किए गए आतंकी अजमल कसाब को लेकर बड़े खुलासे किए हैं। मारिया ने कहा है कि अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के गैंग को अजमल कसाब को कस्टडी में मारने की सुपारी मिली थी। पुलिस ने पूरी कोशिश की थी कि आतंकी की डिटेल मीडिया में लीक न हो. हालांकि, दाऊद के करीबी छोटा शकील ने मारिया के इन दावों को खारिज किया है।

छोटा शकील ने राकेश मारिया की किताब ‘लेट मी से इट नाउ’ में दाऊद इब्राहिम से जुड़े दावों को झूठा बताया है। एक समाचार चैनल से बातचीत में छोटा शकील ने कहा कि किताब की पब्लिसिटी के लिए मनगढ़ंत बातें लिखी गई हैं। राकेश मारिया ने अपनी किताब को प्रमोट करने और बेचने के लिए झूठे तथ्य सामने रखे हैं। वह दाऊद इब्राहिम के नाम का इस्तेमाल कर रहे हैं। सच तो ये है कि डी गैंग का अजमल कसाब से कोई लेना-देना नहीं है। डी गैंग को कसाब की हत्या की कोई सुपारी नहीं मिली थी।

अपने किसी बच्चे के सर पर हाथ रख खाएं कसम : शकील

मारिया साहब के इस झूठ का जवाब तो मेरे पास नहीं है। अगर वो भाई के नाम का इस्तेमाल कर अपनी बुक को प्रमोट करना चाहते हैं, तो बात अलग है। वह अपने किसी बच्चे के सिर पर हाथ रखकर कसम खाकर बोलें कि ये बात सच है। अगर वह ऐसा करते हैं तो मानने वाली बात है।

admin