‘रंगोली बिहू’ को इससे पहले कभी इस अंदाज में नहीं मनाया गया होगा जैसे इन पुलिसवालों ने मनाया

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

आज देशभर में कई महत्वपूर्ण त्यौहार हैं इसमें एक रंगोली बिहू भी शामिल है। यह त्यौहार असम में बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाता है। इस को बोग बिहू और एक्सआट बिहू के नाम से भी जानते हैं। लेकिन धूमधाम से मनाए जाने वाले इस त्यौहार में आज पूरा असम शांत है। वजह कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन में लोग अपने घरों में हैं जो एक अच्छी पहल है।

इस बीच एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है। जिसमें ट्रैफिक पुलिस वाले ढोल बजाते हुए नज़र आये। असम की राजधानी गुवाहाटी में एक अलग ही दृश्य नजर आया। 

एएनआई के वीडियो के मुताबित एक पुलिसकर्मी जहां ढोलक पर थाप दे रहा था, वहीं एक पुलिसकर्मी लगातार नाच रहा है। सभी पुलिसकर्मी मिलकर असम का लोक गीत भी गा रहे थे।

ट्रैफिक पुलिस इस फेस्टिवल पर डांस करते हुए नजर आए। इस दौरान उन्होंने सभी लोगों को घरों पर ही रहने की अपील की है। त्यौहार को मनाते हुए कहा कि अगर हम इस बुरे समय में घर में रहेंगे तो अगले वर्ष बिहू को अच्छे से सेलीब्रेट कर पाएंगे। 

पुलिस महानिदेशक भास्कर ज्योति महंत ने कहा कि बिहू के संबंध में जो परामर्श जारी किए गए हैं उनमें किसी भी जमावड़े पर रोक है। सामुदायिक बिहू उत्सव की शुरुआत पड़ोस के मैदानों में समिति सदस्यों द्वारा स्थानीय लोगों की मौजूदगी में झंडे लगाकर की जाती है। महंत ने कहा कि उन्होंने बिहू समुदायों से अपील की है कि वह झंडे लगाने वाले कार्यक्रम में अधिक से अधिक पांच लोगों को ही शामिल करें और कार्यक्रम सिर्फ 30 मिनट तक ही हो।

असम के अलावा नार्थ ईस्ट के कई इलाकों में इस फेस्टिवल को मनाया जाता है। इस त्यौहार को नए साल के शुरुआत के लिए मनाया जाता है। यह आमतौर पर अप्रैल के दूसरे हफ्ते में मनाया जाता है, लेकिन इस बार यह त्यौहार नहीं मनाया जा रहा है।

असम के स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने बताया कि असम में एक और व्यक्ति के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद राज्य में इससे संक्रमित लोगों की संख्या मंगलवार को 31 हो गई। राज्य के 31 में से संक्रमित 30 लोग तबलीगी  कार्यक्रम से जुड़े हैं।

admin