सिंगरौली में रिलायंस का राखड़ बांध तीसरी बार टूटा और पूरा गांव राख में डूब गया

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिले में एक बार फिर से एश डैम के टूटने की वजह से पूरा इलाका प्रभावित हुआ है। शुक्रवार को यहां पर स्थित एक पावर प्लांट का फ्लाई एश डैम टूट गया जिसकी वजह से इलाके की करीब 200 एकड़ की फसल बर्बाद हो गई। वहीं इसकी वजह से कई गांव प्रभावित हुए हैं और कुछ घर भी मलबे में डूब गए हैं।

ग्रामीणों के मुताबिक ऐश डैम का मलबा नालियों से होते हुए रेणुका नदी पर बने रिहंद बांध में चला गया है। इस बांध से सिंगरौली-सोनभद्र के लगभग 20 लाख लोगों को पीने की पानी की सप्लाई होती है।

ये पॉवर प्लांट सिंगरौली के बैढ़न थाने से करीब 15 किलोमीटर दूर शासन में है। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सरकार से किसानों को मुआवजा देने और मामले की जांच की मांग की है। मामले में लापरवाही के आरोप भी लग रहे हैं। सिंगरौली में पिछले एक साल में बांध टूटने का इस तरह का ये तीसरा मामला है।

सिंगरौली के डीएम केवीएस चौधरी ने बताया, “जो पांच लोग लापता हैं, वो राख के तालाब के पास अपने घरों में थे। रिलायंस पॉवर की तरफ से ये गंभीर लापरवाही है। हम गांववालों को सुरक्षित निकालने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। फसलें भी बर्बाद हुई हैं। हम सुनिश्चित करेंगे कि मुआवजा दिया जाए और इसकी जिम्मेदारी तय हो।”

लगभग 6 महीने पहले इस जिले के एनटीपीसी का बांध टूटने से ऐसी ही तबाही मची थी। वर्ष 2019 में ही अगस्त में अस्सार पाव प्लांट का बांध टूटा था जिसमें 198 एकड़ फसल खराब हुई थी। अप्रैल 2014 में इस प्लांट से ही राख निकलने की वजह से जो खेत खराब हुए थे अब भी बंजर ही रह गए।

संदीप जो घटना के समय वहीं मौजूद थे गांव कनेक्शन को फोन पर बताते हैं, “मेरे धरने पर बैठने के बाद जिलाधिकारी और कंपनी प्रबंधन के बीच बातचीत हुई। उसके बाद जिला प्रशासन की ओर से जिला लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) और दूसरे विभागों ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि ऐश डैम ठीक है, वह नहीं टूटेगा। इसके बाद रिलायंस कंपनी के अधिकारियों ने जिलाधिकारी के सामने कहा था कि ऐश डैम नहीं टूटेगा और अगर टूटता है तो पूरी जिम्मेदारी हमारी होगी।”

संदीप आगे कहते हैं कि जिले के कई विभागों ने अपनी जांच के बाद कहा था कि ऐश डैम की ऊंचाई को बढ़ाया जायेगा, लेकिन ऊंचाई नहीं बढ़ाई गयी और यह हादसा हो गया। अब देखिये इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा।



admin