रिया ने कहा, ‘सुशांत के पिता का बिहार में काफी प्रभाव है और वहां निष्पक्ष जांच नहीं हो पाएगी’

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

सुशांत सिंह राजपूत के पिता ने रिया चक्रवर्ती के खिलाफ पटना के राजीव नगर थाने में एफआईआर दर्ज करवाई है। एक्टर के पिता ने रिया के ऊपर उनके बेटे को सुसाइड के लिए उकसाया है।

पैसे ऐंठने का आरोप लगाते हुए कई गंभीर आरोप लगाए हैं। साथ ही सुशांत के परिवार के वकील विकास सिंह की मांग है कि रिया को गिरफ्तार किया जाए।

एफआईआर की जांच को मुंबई ट्रांसफर किया जाए

बिहार में एफआईआर दर्ज कराए जाने के बाद एक के बाद एक कई मोड़ आ चुके हैं। अब सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में नये खुलासे हो रहे है।

रिया चक्रवर्ती ने सुप्रीम कोर्ट में माना है कि वह सुशांत के साथ लिव इन रिलेशनशिप में थी। सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका में रिया ने कहा है उसे इस मामले में झूठा फंसाया गया है।

याचिका में कहा गया है कि सुशांत के पिता का बिहार में काफी प्रभाव है और वहां निष्पक्ष जांच नहीं हो पाएगी। साथ ही सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर मांग की है कि बिहार में दर्ज एफआईआर की जांच को मुंबई ट्रांसफर किया जाए।

सुशांत करीब एक साल से लिव इन रिलेशनशिप में थे

ये केस बिहार में फाइल किया गया है इसलिए मुंबई पुलिस के साथ-साथ बिहार पुलिस भी केस में तफ़्दीश करने में जुट गई है। इधर बिहार पुलिस केस में पूरी तरह एक्टिव हो गई है और सुशांत से जुड़े लोगों से पूछताछ कर रही है।

एनडीटीवी के पास आई याचिका की कॉपी के मुताबिक, रिया ने अपनी याचिका में लिखा है कि वो और सुशांत करीब एक साल से लिव इन रिलेशनशिप में रह रहे थे, लेकिन 8 जून वो टैम्परेरी अपने घर चली गई थीं। अपनी याचिका में रिया ने ये भी कहा कि सुशांत करीब छह महीने से डिप्रेशन में थे।

रिया के जाने के छह दिन बाद ही सुशांत अपने बांद्रा के फ्लैट पर मृत पाए गए थे। 14 जून के दिन। पुलिस की अभी तक की जांच के मुताबिक, सुशांत ने सुसाइड किया था।

पिता ने कहा सुशांत ऑर्गेनिक खेती करना चाहते थे

सुशांत के पिता ने ये भी कहा कि सुशांत ऑर्गेनिक खेती करना चाहते थे, रिया ने मना किया। रिया को जब लगा कि सुशांत उनकी बात नहीं मानेंगे, और उनका बैंक बैलेंस भी कम हो गया है, तो रिया उनके घर से 8 जून को चली गईं।

साथ में घर से काफी सामान, कैश, जेवरात, लैपटॉप, पासवर्ड, क्रेडिट कार्ड, उनके पिन नंबर, जिसमें सुशांत के अहम दस्तावेज थे, इलाज के सारे कागज लेकर चली गईं।

वह हर छोटी चीज में खुशियां ढूंढ़ लेता था

वहीं उनकी पूर्व प्रेमिका अंकिता लोखंडे एक चैनल को इंटरव्यू देते हुए कहा, “सुशांत कभी डिप्रेशन में नहीं था। मैंने सुशांत जैसा इंसान नहीं देखा था। जब हम रिलेशनशिप में थे तब वह डायरी लिखता था। वह अपने फ्यूचर प्लान लिखता था। उसने लिखा था कि वह अगले 5 साल में एक मुकाम तक पहुंचेगा और आप यकीन कीजिए वह 5 साल में वहां था।”

उन्होंने आगे कहा अब सोचिए कि वह इंसान जो अपने फ्यूचर प्लान करता था वह कैसे डिप्रेशन में रह सकता था। मैं डंके की चोट पर कह सकती हूं कि वह कभी डिप्रेस नहीं हो सकता था। वह हर छोटी चीज में खुशियां ढूंढ़ लेता था।

वह फार्मिंग करना चाहता था। मुझे इस बारे में पता था। वह कहता था कि अगर कुछ नहीं हुआ तो मैं अपनी शॉर्ट फिल्म बना लूंगा। मैं नहीं चाहती कि लोग उसे ऐसे याद करे कि वह डिप्रेस था। वह तो हीरो था।

admin