पीड़ित लोगों की मदद करेंगे रोनाल्डो, अपने सारे होटलों को बदलेंगे अस्पताल में

तुरिन (इटली)

अस्पताल में डॉक्टरों और नर्स को देने वाली सैलरी भी रोनाल्डो की ही संस्था देगी

पूरी दुनिया इस समय कोरोना वायरस से जूझ रही है और विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोरोना वायरस को महामारी घोषित कर दी है। इस महामारी से निपटने के लिए अब स्टार फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो आगे आए हैं। पुर्तगाल टीम के स्टार खिलाड़ी और जुवेंटस क्लब के लिए खेलने वाले रोनाल्डो ने कोराना वायरस के इस खतरे से निपटने और इससे पीड़ित लोगों की मदद करने के लिए पुर्तगाल स्थित अपने सारे होटल को अस्पतालों में बदलने का फैसला लिया है, जहां कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों का फ्री में इलाज किया जाएगा।

स्पेन में स्थित एक अखबार ने पूरे मामले का किया खुलासा

स्पेन स्थित एक अखबार ने कहा कि रियल मैड्रिड के पूर्व खिलाड़ी रोनाल्डो अस्पतालों में कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों की हरसंभव मदद मुहैया कराएंगे। अखबार ने आगे कहा कि इसके साथ ही साथ इस अस्पताल में डॉक्टरों और नर्स को देने वाली सैलरी भी क्रिस्टियानो रोनाल्डो की ही संस्था देगी। रोनाल्डो ने ट्विटर पर इसकी जानकारी दी है। उन्होंने लिखा, ‘इस समय पूरी दुनिया बहुत मुश्किल दौर से गुजर रही है और यह हम सब से देखभाल और ध्यान की मांग करती है।’
मैं पीड़ित लोगों के साथ खड़ा हूं

उन्होंने लिखा, ‘मैं आज आपसे यह बातें एक फुटबॉल खिलाड़ी के रूप में नहीं, बल्कि एक बेटे, पिता और एक ऐसे इंसान के रूप में बोल रहा हूं, जोकि खुद भी इस तरह की चीजों से प्रभावित है।’ रोनाल्डो ने आगे लिखा, ‘यह जरूरी है कि हम सब डब्ल्यूएचओ की सलाह को मानें कि कैसे हमें इस स्थिति को रोकना है। किसी भी चीज से ज्यादा मानव जीवन की सुरक्षा महत्वपूर्ण है। मैं उन सभी को अपनी संवेदनाएं भेजना चाहता हूं, जिन्होंने अपने करीबियों को इस बीमारी में खोया है। मैं उन लोगों के साथ खड़ा हूं, जो इस संक्रमण से लड़ रहे हैं।’

यह घर पर रहने का समय है- मेसी

अर्जेन्टीना के दिग्गज फुटबॉल खिलाड़ी लियोनेल मेसी ने कहा, ‘हेल्थ हमेशा पहले नंबर होने चाहिए। यह असाधारण समय है। हमें स्वास्थ्य संगठनों और सार्वजनिक प्राधिकरणों के निर्देशों का पालन करना चाहिए। केवल ऐसा करने से ही हम प्रभावी रूप से इसका मुकाबला कर सकते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘यह जिम्मेदार होने और घर पर रहने का समय है। यह परिवार के साथ आनंद लेने का सही अवसर है जो हमेशा संभव नहीं हो पाता है।’

सीरी-ए के 11 खिलाड़ी संक्रमित, ला लिगा में भी 1 खिलाड़ी पॉजिटिव

दुनियाभर में लगातार बढ़ते कोरोना वायरस ने खेल जगत को भी अपनी चपेट में ले लिया है। इटली की फुटबॉल लीग सीरी-ए के 11 खिलाड़ियों का कोरोना वायरस टेस्ट पॉजिटिव पाया गया है। इस लीग में 20 टीमें खेलती हैं। डॉक्टर ने नई हेल्थ एडवाइजरी जारी कर खिलाड़ियों को प्रैक्टिस से बचने और घर में रहने के लिए कहा है। इसके अलावा दो दिन में दुनियाभर में 6 खेलों के 14 टूर्नामेंट्स को टाला या रद्द कर दिया गया। वहीं, स्पोर्टअकॉर्ड वर्ल्ड स्पोर्ट एंड बिजनेस समिट को रद्द कर दिया गया। यह 19-24 अप्रैल को स्विटजरलैंड के लुसाने में होनी थी। इस बीच, वैलेंसिया की तरफ से खेलने वाले इजिक्विल गैरे कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। वे स्पेनिश फुटबॉल लीग ला लिगा में कोविड-19 से संक्रमित होने वाले पहले खिलाड़ी हैं। उन्होंने लिखा, ‘‘मैं कोरोना वायरस से संक्रमित हूं।

भारत के उच्च स्तरीय दल का टोक्यो-2020 दौरा स्थगित

नई दिल्ली| केंद्रीय खेल मंत्रालय और भारतीय ओलिंपिक संघ (आईओए) ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए अपना प्री तोक्यो-2020 दौरा स्थगित कर दिया है। केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने रविवार को ट्विटर पर इसकी जानकारी दी। इस दल में खेल मंत्री, आईओए अध्यक्ष नरेंद्र बत्रा, महासचिव राजीव मेहता के अलावा खेल मंत्रालय के सचिव राधे श्याम झुलनिया, साई के निदेश संदीप प्रधान और मुक्केबाजी संघ के अध्यक्ष अजय सिंह शामिल थे। रिजीजू और आईओए के शीर्ष अधिकारी इस महीने के अंत में टोक्यो ओलिंपिक को जापान में चल रही तैयारियों का जायजा लेने के लिए टोक्यो का दौरा करने वाले थे।

किपचोगे ने लंदन मैराथन के स्थगित होने का किया स्वागत

नैरोबी | केन्या के दिग्गज धावक इलियुद किपचोगे इस साल होने वाली प्रतिष्ठित लंदन मैराथन कोरोना वायरस के कारण स्थगित करने के फैसले का स्वागत किया है। यह मैराथन पहले 24 अप्रैल को होनी थी जिसे अब चार अक्टूबर तक के लिए स्थागित कर दिया गया है। किपचोगे ने ट्विटर पर कहा, यह दुर्भाग्यपूर्ण खबर है कि लंदन मैराथन को स्थगित कर दिया गया है। लेकिन आयोजकों द्वारा लिए गए निर्णय का मैं पूरी तरह से सम्मान करता हूं क्योंकि दुनिया के लोगों की स्वास्थ्य की रक्षा करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। आयोजकों ने मैराथन को स्थगित करते हुए कहा था कि हर धावक बाद में होने वाले आयोजन में अपना स्थान सुरक्षित पाएगा, और जो धावक इसमें हिस्सा न लेने का फैसला करते हैं या किसी कारणवश हिस्सा नहीं ले पाते हैं तो उनकी फीस वापस दे दी जाएगी। किपचोगे चार बार प्रतिष्ठित लंदन मैराथन का खितबा जीत चुके हैं।

घर से ही काम करेंगे आईओसी स्टाफ

लुसाने। कोरोना वायरस के बढ़ते खतरों को रोकने के लिए अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) ने लुसाने स्थित अपने मुख्यालय में सभी कर्मचारियों को सोमवार से घर से ही काम करने को कहा है। पिछले साल दिसंबर में चीन के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस से अबतक 3,100 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 90 हजार से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं। संक्रमण बढ़ने की आशंका को देखते हुए यात्रा प्रतिबंध लगाए गए हैं। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ने संक्रमण से प्रभावित देशों में अपने कर्मचारियों को घर से काम करने के लिए कहा है। सोमवार (2 मार्च) के ब्लॉग पोस्ट में ट्विटर की मानव संसाधन प्रमुख जेनिफर क्रिस्टी ने कहा, “हम विश्व स्तर पर सभी कर्मचारियों को घर से काम करने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं।”

admin