रूस : मॉस्को के शॉपिंग सेंटर्स और थिएटरों में भी उपलब्ध होगी कोरोना की वैक्सीन

मॉस्को । रूस की राजधानी मॉस्को में अब अस्पतालों और पॉली क्लीनिकों के अलावा शॉपिंग सेंटर्स और ओपेरा थिएटरों में भी कोरोना की वैक्सीन उपलब्ध होगी। यहां पर मोबाइल मेडिकल टीमों की तैनाती की गई है, जो इस तरह के स्थानों पर तैनात होंगे।

देश के प्रमुख डिपार्टमेंटल स्टोर ‘गम’ में शहरों के प्रमुख पॉलीक्लीनिक से डॉक्टरों की तैनाती की गई है। इससे लोगों को बहुत आसानी हो गई है और वे वहां बिना समय बर्बाद किए वैक्सीन लगवा सकते हैं।

वॉलंटियर नईलाया एलीबेकोवा ने बताया कि वह खुद को वायरस से संक्रमित होने के बचाने के लिए सुरक्षित रखना चाहती हैं, इसलिए वह वैक्सीन लगवाना चाहती हैं। गम स्टोर पर कई दिनों से वैक्सीनेशन का शुरुआत की गई है। यह सेंटर तीसरी मंजिल पर है और यहां पर रोज लंबी लाइन लगी रहती है।

इस सेंटर का मुख्यालय मॉस्को में है। यहां पर तैनात डॉक्टरों ने बताया कि विदेशी लोग भी वैक्सीन लगवाने के लिए यहां पर आते हैं। जो लोग यहां पर आते हैं, उन्हें उनकी बीमारी से संबंधित प्रश्नोत्तरी दी जाती है।

पॉलीक्लीनिक नम्बर 68 के प्रमुख फिजिशियन नटालिआ कुजेनकोवा ने बताया कि इस अभियान के तहत गर्भवती महिलाओं, सीरियल एलर्जिक रिएक्शन से ग्रस्त कैंसर से पीड़ित महिलाओं को वह प्रथामिकता देती हैं, जो वर्तमान में इम्यून कॉम्पप्रेशन थेरेपी से ग्रस्त हैं।

वॉलंटियर्स रोमन वजिलकेविक ने बताया कि उन्होंने निर्णय लिया है कि डॉक्टर की सलाह लेने के बाद ही वह वैक्सीन लगवाएंगे। उन्हें डायबटीज और एलर्जी की समस्या है। उन्होंने बताया कि उनके सभी संबंधियों को यह बीमारी है। उन लोगों में केवल वो ही ऐसे हैं, जिन्हें बीमारी नहीं है। इसके साथ ही वो उन लोगों की सूची में शामिल नहीं होना चाहते हैं, जो बीमार हैं, इसलिए जितना संभव हो वह इससे बचने का प्रयास करते हैं।

उल्लेखनीय है कि रूस में स्पूतनिक वैक्सीन की 65 लाख डोज पहले ही रूस में विकसित की जा चुकी हैं। साथ ही मार्च के अंत तक 33 मिलियन डोज विकसित की जाएंगी। 60 मिलियन से अधिक जनसंख्या को वैक्सीनेट करने की आवश्यकता है।

admin