सचिन ने अपनी ही सरकार को घेरा, कहा- तय होनी चाहिए जिम्मेदारी

कोटा

कोटा में जेके लोन हॉस्पिटल में एक महीने में 107 बच्चों की मौत का मामले में अब अपने ही नेता के निशाने पर सीएम अशोक गहलोत आ गए हैं। राज्य के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने शनिवार को कोटा अस्पताल का दौरा किया। साथ ही उन बच्चों के परिजनों से भी मुलाकात की, जिनकी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हुई है। इस दौरान पायलट ने अपनी ही सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि जिम्मेदारी तय होनी चाहिए। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा पुरानी सरकार की तुलना में कम बच्चों की मौत के तर्क को अस्वीकार करते हुए उन्होंने कहा कि हमें सरकार में आए 13 महीने हो चुके हैं। पुरानी सरकारों को दोष देने से काम नहीं चलेगा। सरकार का रुख संतोषजनक नहीं है। इधर शनिवार को केंद्र से उच्च स्तरीय जांच टीम अस्पताल पहुंची है।

जिस मां की कोख उजड़ती है, वही दर्द जानती है

पायलट ने इस दौरान मीडिया से बात करते हुए कहा कि हमें आंकड़ों में नहीं फंसना है। आंकड़ों के जाल में हम चर्चा को ले जाएं यह उन लोगों को स्वीकार्य नहीं है जिन्होंने अपने बच्चे खोए हैं। जिस मां ने अपने बच्चे को गर्भ में 9 महीने रखा, उसकी कोख उजड़ती है तो उसका दर्द वही जानती है।

हमें लोगों को विश्वास दिलाना होगा कि हम इस तरह की घटना स्वीकार नहीं करेंगे। यदि इतने बच्चों की मौत हुई है तो कोई ना कोई कमी तो जरूर रही होगी। पायलट का यह बयान अपनी ही सरकार के लिए मुसीबत बन सकता है। इस पूरे मामले पर मुख्यमंत्री के बयान विवादित रहे हैं जिन्हें विपक्ष गैरजिम्मेदार करार देता रहा है। ऐसे में पायलट का यह बयान विपक्ष को और आक्रामक रुख अख्तियार करने का मौका देगा।

मुख्यमंत्री के ट्वीट के पर बोले आंकड़ों के जाल में नहीं फंसना

गौरतलब है कि कोटा में बच्चों की मौत के मामले पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि ‘कोटा के जेके लोन अस्पताल में बच्चों की मौत के बारे में सरकारी आंकड़े बताते हैं कि इस साल 963 बच्चों की मौत हुई है, जबकि साल 2015 में 1260 बच्चों ने जान गंवाई थी। वहीं, 2016 में यह आंकड़ा 1193 था, जब राज्य में भाजपा का शासन था। वहीं, 2018 में 1005 बच्चों की जान गई है। सीएम के इसी आंकड़ों को लेकर उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि
हम आंकड़ों के जाल में नहीं फंसना चाहते हैं।

कांग्रेस की टीम कोटा गई-प्रियंका

वहीं इस मामले में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा है कि मैंने मुद्दे का विवरण लिया है और मामले पर अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए कांग्रेस की एक टीम वहां गई है।

admin