मां बनने के बाद सानिया ने जीता पहला और करियर का 42वां खिताब

होबार्ट

होबार्ट इंटरनेशल टूर्नामेंट… सानिया और नादिया किचेनोक ने पेंग और झांग की जोड़ी को 6-4, 6-4 से हराया

मां बनने के बाद पहली बार किसी टूर्नामेंट में खेल रही भारत की स्टार महिला टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने डब्ल्यूटीए सर्किट में शानदार वापसी करते हुए होबार्ट इंटरनेशल टूर्नामेंट रूप में अपना पहला युगल खिताब जीत लिया है। दो साल बाद कोर्ट पर वापसी कर रहीं पूर्व वर्ल्ड नंबर-1 जोड़ी सानिया और यूक्रेन की नादिया किचेनोक ने शनिवार को दूसरी सीड चीनी जोड़ी पेंग शुहाई और झांग शुहाई एक घंटे 21 मिनट तक चले मुकाबले में 6-4, 6-4 से हराकर खिताब जीता। सानिया की दो साल बाद यह पहली और करियर की 42वीं युगल खिताब है। वहीं, नादिया की पांचवीं युगल खिताब है। तीन बार की युगल ग्रैंड स्लैम विजेता सानिया चोट और फिर अक्टूबर 2018 में मां बनने के बाद से दो साल तक कोर्ट से दूर थी।

पूर्व वर्ल्ड नंबर-1 सानिया ने 2015 में विंबलडन और अमेरिकी ओपन में मार्टिना हिंगिस के साथ मिलकर युगल खिताब जीता था। इसके बाद वह 2016 में ऑस्ट्रेलियन ओपन में भी हिंगिस के साथ मिलकर युगल खिताब जीतने में सफल रही थी। उन्होंने आखिरी बार 2017 में ब्रिसबेन इंटरनेशनल में अमेरिकी जोड़ीदार बेथानी माटेक सैंड्स के साथ खिताब जीता था।

रायबाकीना ने होबार्ट में जीता एकल खिताब

कजाकिस्तान की एलेना रायबाकीना ने चीन की झांग शुआई को हराते हुए होबार्ट इंटरनेशनल टेनिस टूर्नामेंट का महिला एकल खिताब जीत लिया। यह रायबाकीना के करियर का दूसरा डब्ल्यूटीए खिताब है। टूर्नामेंट की तीसरी सीड 20 साल की रायबाकीना ने चौथी सीड झांग को एक घंटे 33 मिनट तक चले मुकाबले में 7-6(7), 6-3 से हराया। इस जीत के बाद रायबाकीना के वर्ल्ड रैंकिंग में 30वें से 26वें स्थान पर पहुंचने की उम्मीद है।

इससे बेहतर वापसी की उम्मीद नहीं की जा सकती : सानिया

मैं टेनिस कोर्ट में इससे बेहतर वापसी की उम्मीद नहीं कर सकती थी। होबार्ट कई मायनों में मेरे लिए खास रहा है और यह आश्चर्यजनक है कि यह यहां होबार्ट में हुआ। इसके लिए अपने साथी का शुक्रिया अदा करना चाहूंगी। मैं इसे पर्याप्त नहीं कह सकती। मैं अपने माता-पिता और मेरी टीम के बिना यह नहीं होती। मेरे लिए यहां रहना और खासकर अपने बच्चे के साथ रहना बेहद खास है।

admin