9 दिनों में दूसरा क्लीन स्वीप

माउंट माउंगानुई

अंतिम मैच में न्यूजीलैंड ने भारत को पांच विकेट से दी मात

न्यूजीलैंड ने यहां बे ओवल मैदान पर मंगलवार को खेले गए तीन मैचों की वनडे सीरीज के अंतिम मैच में भारत को पांच विकेट से हराकर सीरीज में 3-0 से क्लीन स्वीप हासिल कर ली। इससे पहले भारत ने टी-20 सीरीज में न्यूजीलैंड पर 5-0 से क्लीन स्वीप किया था। भारत ने लोकेश राहुल (112) के करियर के पांचवें शतक की बदौलत सात विकेट पर 296 रन का स्कोर बनाया, जिसे न्यूजीलैंड ने 17 गेंद शेष रहते पांच विकेट खोकर हासिल कर लिया।

भारत को 14 साल बाद किसी द्विपक्षीय सीरीज में क्लीन स्वीप झेलना पड़ा है। 2006-07 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 5 वनडे की सीरीज में 4-0 से हारा था, लेकिन उसमें एक मैच बारिश के कारण रद्द हो गया था। भारत से मिले 297 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी न्यूजीलैंड को मार्टिन गुप्टिल (66) और हेनरी निकोलस (80) ने पहले विकेट के लिए 106 रनों की शतकीय साझेदारी करके कीवी टीम को शानदार शुरुआत दी। इसी बीच, युजवेंद्र चहल ने गुप्टिल को बोल्ड करके भारत को पहली सफलता दिलाई। कप्तान केन विलियम्सन (22) के साथ दूसरे विकेट के लिए 53 रन जोड़कर न्यूजीलैंड की पारी को जारी रखा। विलियम्सन के आउट होने के बाद मेजबान टीम ने 189 रन तक अपने चार विकेट गंवा दिए। इसमें पहले दो मैचों में शतक और अर्धशतक लगाने रॉस टेलर (12) और निकोलस के विकेट भी शामिल हैं। न्यूजीलैंड को पांचवां झटका जेम्स नीशम (19) के रूप में 220 के स्कोर लगा। नीशम के आउट होने के बाद कोलिन डी ग्रैंड होम (नाबाद 58) और टॉम लाथम (नाबाद 32) ने छठे विकेट के लिए 80 रनों की साझेदारी की। भारत की ओर सबसे ज्यादा चहल ने तीन विकेट लिए। निकोलस को बेहतरीन पारी के लिए मैन ऑफ द मैच जबकि सीरीज में 194 रन बनाने वाले टेलर को मैन ऑफ द सीरीज का पुरस्कार प्रदान किया गया।

हम अपनी काबिलियत साबित नहीं कर सके : कोहली

न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज 0-3 से गंवाने वाले भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा कि मैदान पर उनके साथी अपनी काबिलियत के साथ न्याय नहीं कर सके। कोहली ने मैच के बाद कहा, “पहले मैच में हम दौड़ मे थे। सभी तीन मैचों में हमारा कम्पोजर और हमारी फील्डिंग स्तरीय नहीं थी। हमने जिस तरह से वापसी की, वह सकारात्मक है लेकिन फील्ड के अंदर हम अपनी क्षमता के साथ न्याय नहीं कर सके।” कोहली ने कहा कि वनडे सीरीज में कीवी टीम के कुछ सदस्यों के लिए अच्छा अनुभव वाली रही। बकौल कप्तान, “टी-20 सीरीज में हमने शानदार प्रदर्शन किया लेकिन वनडे सीरीज कीवी टीम के कुछ साथियों के लिए उपलब्धि भरी रही। उन्होंने अपनी उपयोगिता साबित की।

admin