अपनी आँखों में काला धब्बा देख कर महानायक को याद आया माँ का पल्लू

विभव देव शुक्ला

फिल्मी दुनिया फिल्मी सितारों के जुनून की बुनियाद पर टिकी हुई है और इसी जुनून के चलते जज़्बात भी पनपते हैं। ऐसे जज़्बात जिनके ज़रिये लोग अपने चहेते सितारे से जुड़ते हैं, उन्हें जानते हैं और जानने से ज़्यादा समझते हैं। समझ कर अपने अंत में अपने चहेते फिल्मी सितारे को मोहब्बत देते हैं। कुछ ऐसा ही जज़्बातों में पिरोया हुआ नज़राना देखने को मिला अमिताभ बच्चन के फेसबुक पेज पर। जहां उन्होंने अपनी भावनाओं को कुछ इस तरह पेश किया कि पूरे सोशल मीडिया पर इसका ज़िक्र होने लगा।

क्या लिखा महानायक ने
सदी के महानायक अमिताभ बच्चन ने फेसबुक पोस्ट में एक तस्वीर साझा की जिसमें उनका चेहरा और सबसे ज़्यादा उनकी आँखें नज़र आ रही थीं। पोस्ट में अमिताभ लिखते हैं
बाईं आँख फड़कने लगी है ; सुना था बचपन में अशुभ होता है ; गए दिखाने डॉक्टर को, तो निकला ये एक काला धब्बा आँख के अंदर ; डॉक्टर बोला कुछ नहीं है, उम्र की वजह से, जो सफ़ेद हिस्सा आँख का होता है, वो घिस गया है।
जैसे बचपन में माँ पल्लू को गोल बना कर, फूँक मारकर, गरम करके आँख में लगा देतीं थी, वैसा करो, सब ठीक हो जाएगा।
माँ तो है नहीं अब, बिजली से रुमाल को गरम करके लगा लिया है।
पर बात कुछ बनी नहीं !!
माँ का पल्लू, माँ का पल्लू होता है !!

लाखों लोगों ने दी प्रतिक्रिया
इस पोस्ट पर सोशल मीडिया पर मौजूद लाखों लोगों ने प्रतिक्रिया दी है। जज़्बातों से भरे इस पोस्ट पर सोशल मीडिया के लोग खूब प्रेम लुटा भी रहे हैं। महानायक की इस पोस्ट को अभी तक लगभग 1.5 लाख लोगों ने पसंद किया है। लगभग 9 हज़ार लोगों ने इस पर टिप्पणी की है और 4.5 हज़ार लोगों ने इस पोस्ट को साझा किया है।
बेशक इस पोस्ट को देखने वाली जनता के सामने पल भर के लिए माँ का पल्लू सामने आ ही गया होगा। फिल्मी दुनिया के सितारों के पास बतलाने और समझाने के सबसे कीमती चीज़ यही है ‘जज़्बात’। इसलिए लोगों ने महानायक के इस पोस्ट पर खूब स्नेह लुटाया।

admin