जब्त विमान को छुड़ाने के लिए पाकिस्तान ने चुकाई 51 करोड़ रुपए की कीमत

इंटरनेशनल डेस्कः मलेशिया में पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) के विमान को लेकर जमकर बेइज्जती करवाने के बाद अब इमरान खान सरकार ने एक हफ्ते बाद के आयरिश जेट कंपनी को 70 लाख डॉलर (51 करोड़ भारतीय रुपए) की रकम चुका दी है। पाकिस्तान की राष्ट्रीय विमानन कंपनी ने लंदन उच्च न्यायालय को बताया कि उसने एक आयरिश जेट कंपनी को 70 लाख अमेरिकी डॉलर का भुगतान किया है।

PIA के इस विमान को मलेशिया में पट्टे की रकम को लेकर हुए विवाद के बाद जब्त कर लिया गया था। PIA ने शुक्रवार को लंदन उच्च न्यायालय के एक न्यायाधीश को बताया कि उसने डबलिन स्थित एयरकैप द्वारा पट्टे पर लिये गए दो विमानों के मामले में पेरेग्रीन एविएशन चार्ली लिमिटेड को करीब 70 लाख अमेरिकी डॉलर की रकम चुकाई है। PIA के वकीलों ने शुक्रवार को अदालत से मामले में सुनवाई की अगली तारीख देने का अनुरोध किया।

क्या है मामला

पिछले हफ्ते स्थानीय अदालत के आदेश के बाद मलेशियाई अधिकारियों ने एयरकैप को विमानों के पट्टे की रकम का भुगतान नहीं करने से संबंधित मामले में क्वालालंपुर हवाईअड्डे पर PIA के बोइंग-777 विमान को जब्त कर लिया था। उम्मीद है कि अदालत द्वारा पीआईए के खिलाफ कोई आदेश पारित किये जाने से पहले ही समझौते के तहत पूरी रकम अदा कर दी जाएगी। डबलिन स्थित एयरकैप के वकील ने अदालत को बताया कि वादी की स्थिति यह है कि आज प्रतिवादी (पीआईए) द्वारा रकम का भुगतान किया गया है।’ अदालत को बताया गया कि PIA ने जुलाई से ही रकम का भुगतान नहीं किया और उसे एयरलाइंस को हर महीने पांच लाख 80 हजार अमेरिकी डॉलर की रकम देनी थी। ऐसा नहीं होने पर वाद दायर किया गया।

PIA ने अपनी दलील में कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण विमानन उद्योग पर गंभीर असर पड़ा है और ऐसे में रकम में कमी की जानी चाहिए। सूत्रों के अनुसार इसबीच पट्टे पर विमान देने वाली कंपनी पीआईए की गतिविधियों पर नजर रख रही थी और जैसे ही उसे यह जानकारी मिली कि उड़ान संख्या- 895 के मलेशिया में हवाईअड्डे पर उतरने का कार्यक्रम है उसने अंतरराष्ट्रीय नागर विमानन पट्टा कानून के तहत स्थानीय अदालत में विमान को जब्त किये जाने के लिये अर्जी दायर कर दी। एयरलाइंस के एक प्रवक्ता ने कहा कि बोइंग-777 विमान को लंदन उच्च न्यायालय के आदेश जारी करने के बाद जब्त कर लिया गया

admin