विपक्ष में नहीं बैठ पा रहे शिवराज, करोड़ों देकर विधायक खरीदने की कोशिश में – दिग्विजय सिंह

विभव देव शुक्ला

मध्य प्रदेश की राजनीति में फिलहाल काफी कुछ हो रहा है और इस उतार चढ़ाव के दौर में सभी शामिल हैं चाहे पक्ष हो या विपक्ष। इसी कड़ी में सबसे ताज़ा प्रक्रिया आई है भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह की तरफ से, जिसमें उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उनका कहना है कि मध्य प्रदेश भाजपा के दिग्गज नेता कांग्रेस के विधायकों को रिश्वत देने की कोशिश कर रहे हैं जिससे कमलनाथ सरकार गिर जाए।

करोड़ों की रिश्वत देने की कोशिश
दिग्विजय सिंह ने कहा है जब से भाजपा को मध्य प्रदेश में विपक्षी दल की जगह मिली है। और शिवराज सिंह चौहान, नरोत्तम मिश्रा जैसे नेता जिन्होंने पिछले 15 सालों से प्रदेश को लूटा है, वह विपक्ष में नहीं बैठ पा रहे हैं और हमारे विधायकों को 25 से 30 करोड़ रुपए तक की रिश्वत देने की कोशिश कर रहे हैं।
दिग्विजय सिंह ने कहा, भाजपा के नेता कह रहे हैं कि 5 करोड़ अभी दिए जाएंगे, दूसरी किश्त राज्यसभा चुनावों के बाद और तीसरी किश्त तब दी जाएगी जब कमलनाथ सरकार पूरी तरह गिर जाएगी। भाजपा के नेताओं ने हमारे विधायकों से संपर्क किया था और उन्होंने हमारे नेतृत्व को इस बारे में जानकारी दी है।

पहले दोनों के बीच विवाद था
इसके बाद दिग्विजय सिंह ने कहा मैं उन्हें बताना चाहता हूँ कि यह कर्नाटक नहीं है। कांग्रेस के विधायक मध्य प्रदेश में खरीदे नहीं जा सकते हैं, शिवराज सिंह चौहान और नरोत्तम मिश्रा हमारे विधायकों को सीधे कॉल कर रहे हैं। यह किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके बाद उन्होंने कहा पहले शिवराज और नरोत्तम मिश्रा में मुख्यमंत्री पद के लिए काफी विवाद हुआ था।
लेकिन अब दोनों ने सुलह कर ली है। दोनों के बीच यह तय हुआ है कि एक मुख्यमंत्री बनेगा और दूसरा उपमुख्यमंत्री। इतना ही नहीं केंद्र सरकार भी कांग्रेस के विधायकों को धमकाने के लिए तमाम तरह के हथकंडे अपना रही है लेकिन हम ऐसा नहीं होने देंगे। कांग्रेस का कोई भी विधायक भाजपा के नेताओं की बातों में नहीं आने वाला है।

दिग्विजय सिंह की पुरानी आदत
मामले के सुर्खियों में आने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस पर प्रतिक्रिया दी है। शिवराज सिंह ने कहा सुर्खियों में बने रहने के लिए झूठ बोलना उनकी (दिग्विजय सिंह) पुरानी आदत है। शायद वह मुख्यमंत्री कलमनाथ को डराना और धमकाना चाह रहे होंगे इसलिए उन्होंने ऐसा किया। इसलिए उन्होंने हम पर इस तरह के बेबुनियाद आरोप लगाए हैं, जिसका न तो कोई मतलब है और न ही निकल सकता है।

admin