टिकटॉक वीडियो बनाने की ऐसी दिवानगी कि एसीपी के फ्लैट पर कर दी फायरिंग

नोएडा

टिकटॉक वीडियो बनाकर लोकप्रियता हासिल करने की कोशिश में जुटे एक शख्स की मुश्किलें बढ़ गई हैं। 30 वर्षीय इस शख्स ने टिकटॉक बनाने के लिए दिल्ली के असिस्टेंट पुलिस कमिश्नर के नोएडा स्थित फ्लैट पर फायरिंग की थी। इस मामले में पुलिस ने आरोपी को युवक को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की पहचान पुनीत सिसोदिया के तौर पर हुई है।

पुलिस ने बताया कि पुनीत सिसोदिया ने शुक्रवार रात टिकटॉक बनाने के लिए नोएडा के कॉसमॉस सोसायटी के 17वें फ्लोर पर स्थित दिल्ली के असिस्टेंट पुलिस कमिश्नर के फ्लैट में 6 राउंड फायरिंग की थी। पुनीत इसी सोसायटी में रहता है और नोएडा के ही एक निजी अस्पताल में मार्केटिंग मैनेजर है। पुनीत ने अपनी काले रंग की स्कॉर्पियों गाड़ी के अंदर से ये फायरिंग की थी। पूछताछ में उसने बताया कि महज मजाक में उसने ये फायरिंग की थी, उसकी किसी पर हमले की कोई योजना नहीं थी। पुलिस ने बताया कि शनिवार सुबह में जांच के दौरान पुलिस ने पंचशील अंडरपास से पुनीत की गाड़ी को रोका और फिर उससे पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया।

केस दर्ज, बंदूक लाइसेंस रद्द

एडिशनल पुलिस कमिश्नर (लॉ एंड ऑर्डर) अखिलेश कुमार ने बताया कि आरोपी शख्स ने जिस फ्लैट पर फायरिंग की वह दिल्ली के विवेक विहार इलाके के एसीपी मयंक बंसल का है। एसीपी बंसल की पत्नी ने फोन करके फायरिंग की सूचना दी। इसके बाद अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 307, 427 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। पूछताछ के दौरान पुनीत ने लगातार यही बताया कि उसने अपनी रिवॉल्वर से हवा में फायरिंग की थी। पुनीत की लाइसेंसी रिवॉल्वर पुलिस ने बरामद कर लिया है। साथ 106 जिंदा गोलियां भी मिली हैं। आर्म्स एक्ट के अलग मामले में उसके खिलाफ केस दर्ज किया गया है, बंदूक का लाइसेंस भी रद्द कर दिया गया है।

admin