मप्र में चटकने लगी धूप, फरवरी में ही 36.9 डिग्री सेल्सियस पहुंचा तापमान

भोपाल । वर्तमान में मध्य प्रदेश में कोई मौसम सिस्टम के सक्रिय नहीं है। वातावरण में नमी नहीं रहने से मौसम शुष्क बना हुआ है। साथ ही हवा का रुख भी दक्षिणी और उत्तर-पूर्वी हो रहा है। इससे राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के अधिकतर इलाकों में दिन और रात के तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। धूप में तल्खी महसूस होने लगी है। वहीं रात में भी गर्मी का असर दिखने लगा है।

बुधवार को प्रदेश में सबसे अधिक तापमान 36.9 डिग्री सेल्सियस खरगोन में दर्ज किया गया। गुरुवार को गर्मी के तेवर और तीखे होने की संभावना है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक मौसम का मिजाज अभी तीन-चार दिन तक इसी तरह का बने रहने की संभावना है।

वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ पाकिस्तान और उससे लगे उत्तर भारत में सक्रिय है। हालांकि इनके प्रभाव से वर्तमान में प्रदेश में हवा का रुख दक्षिणी बना हुआ है। वातावरण में नमी भी मौजूद नहीं है। इससे मौसम पूरी तरह शुष्क बना हुआ है। इससे राजधानी भोपाल सहित मध्य प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में अधिकतम और न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी होने लगी है।

मौसम विज्ञानियों के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ के असर से उत्तरी पाकिस्तान पर एक प्रेरित चक्रवात बना हुआ है। इससे हवाओं का रुख बदल गया है। बुधवार को राजधानी में दिन का पारा 33 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की संभावना है। बुधवार को न्यूनतम तापमान 14.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ, जो कि सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। गुरुवार को न्यूनतम तापमान में भी एक डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी होने के आसार हैं। इससे फिलहाल तापमान में बढ़ोतरी भी जारी रहेगी। इस सिस्टम के उत्तर भारत से आगे बढऩे पर शुक्रवार से न्यूनतम तापमान में कुछ गिरावट होने की संभावना है। फरवरी अंत तक मध्य प्रदेश में दिन का पारा 35 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने के आसार है।

admin