छेड़छाड़ में सस्पेंड अफसर की पत्नी बोली- बड़ा दिल दिखाओ, माफ कर दो; पीड़िता अड़ी

नगर संवाददाता | इंदौर

महिला अधिकारी के साथ छेड़छाड़ के आरोप में निलंबित हुए उपायुक्त राजेश क्षत्री की पत्नी साक्षी शुक्रवार दोपहर को सहकारिता विभाग पहुंचीं। यहां उन्होंने छेड़छाड़ का आरोप लगाने वाली महिला अधिकारी से मुलाकात की और अपने पति के गुनाह के लिए आधे घंटे तक माफी मांगती रही। महिला अधिकारी नहीं मानी तो साक्षी रोते हुए बाहर निकल गईं। साक्षी ने कहा, ‘जो हुआ, भूल जाओ और बड़े दिल से माफ कर दो। आगे ऐसी गलती नहीं करेंगे।’ साक्षी ने यह भी कहा कि उनकी (पति) मंशा यह नहीं रही होगी, उनसे गलती हो गई, हम लोगों का ख्याल करो।

पीड़िता ने भी अपनी बात पुख्ता तौर पर रखी। महिला अधिकारी ने साक्षी को बताया कि उनके पति ने उन्हें कैसे प्रताड़ित किया। किस तरह के भद्दे मैसेज किए। किस तरह से क्षत्री उन्हें डराने और उनकी आवाज को दबाने की धमकियां देते रहे। दोनों महिलाओं के बीच बातचीत का यह सिलसिला करीब आधे घंटे तक जारी रहा। साक्षी की तमाम कोशिशों के बावजूद पीड़िता ने स्पष्ट कर दिया कि वह क्षत्री को माफ नहीं करेंगी। जिस भी प्लेटफार्म पर लड़ाई लड़ना पड़े। वह अपनी बात रखेंगी।

बता दें कि महिला अधिकारी को क्षत्री ने 70 से अधिक भद्दे मैसेज किए थे। जिसके स्क्रीन शॉट के साथ पीड़िता अधिकारी ने शिकायत की थी। जिसके बाद क्षत्री को निलंबित कर दिया गया। शुक्रवार दोपहर क्षत्री की पत्नी साक्षी विभाग पहुंची। उन्होंने जाते ही पीड़िता के बारे में पूछा। चूंकि पीड़िता का कक्ष उपायुक्त के कक्ष से लगा हुआ था और बाहर भीड़ थी इसीलिए दोनों ऑडिट सेक्शन की तरफ बैठे। जब पत्नी के विभाग में जाने को लेकर राजेश क्षत्री से बात की गई तो उन्होंने कहा कि चाची शांत हो गई हंै, मैं तो वहां हूं ही नहीं।

admin