शनिवार के दिन करें ये उपाय, आर्थिक स्थिति हो सकती है मजबूत

आज का दिन शनिवार (saturday) है और आप तो जानतें ही हैं कि आज के दिन कर्मों का फल देने वाले शनिदेव (shanidev) की पूजा-अराधना की जाती है । अधिकतर लोग भगवान शनि से सब भयभीत रहते हैं, लेकिन शायद आप जानते नही हैं कि शनिदेव (shanidev) अच्‍छे कर्म करने वाले व्‍यक्ति से नाराज नही होतें हैं और न ही कभी अच्‍छे कर्म करने वाले व्‍यक्ति का कभी बुरा करतें हैं, अगर आप भी आज के दिन भगवान शनिदेव (shanidev) पूजा कर रहे हैं तो इन 6 बातों का ध्‍यान अवश्य रखें वरना अनजाने में आप शनिदेव (shanidev) को नाराज कर सकते हैं।

शनिदेव (shanidev) की पूजा के दौरान सफाई का ध्यान जरुरी है। उनकी पूजा कभी गंदगी भरे माहौल या गंदे कपड़े (Dirty Clothes) पहनकर नहीं करना चाहिए।

शनिदेव (shanidev) को प्रसन्न रखना हो तो प्रत्येक शनिवार (saturday)उन्हें काले तिल और खिचड़ी का भोग लगाना चाहिए।

शनिदेव (shanidev) की पूजा के दौरान नीले या काले रंगों का ही प्रयोग करना चाहिए। लाल रंग या लाल फूल का भी प्रयोग कतई न करें। लाल रंग मंगल का परिचायक है और मंगल भी शनि (shani ) के शत्रु ग्रह हैं।

शनिवार के दिन किन चीजों को खरीदना चाहिए और उससे क्या लाभ होता है। इसके बारे में जानकारी दी गई है। आइए जानते हैं कि शनिवार को खरीदारी करने से पहले इन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

शनिवार को नए कपड़े खरीदने से घर में अच्छा नहीं होता है । शनिवार को काले रंग के कपड़े पहनने से शनिदेव प्रसन्न होतेे हैं। इसके अलावा लोहे की चीजों को भी खरीदने से बचना चाहिए। लेकिन लोह के वस्तुओं का दान कर सकते हैं।

मान्यता है कि शनिवार को नमक खरीदने से कर्ज बढ़ता है। इसके अलावा काला तिल भी नहीं खरीदना चाहिए। वास्तु के अनुसार, काला तिल खरीदना शुभ नहीं होता है।

वास्तु के मुताबिक शनिवार, मंगलवार और अमावस्या के दिन घर या ऑफिस के लिए फर्नीचर नहीं खरदीना चाहिए। घर में शहद रखने से शनि देव प्रसन्न होते हैं। माना जाता है कि इससे घर में फिजूल खर्ची नहीं होती हैं। शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए शाम में काले कुत्ते या काली गाय क रोटी खिलाने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है। इसके अलावा झाड़ू खरीदना चाहिए।

शनिवार को पीपल के पेड़ के पास शाम को दीपक जलाना चाहिए। इसके अलावा शाम को हनुमान चालीसा पढ़ना चाहिए,

नोट- उपरोक्‍त दी गई जानकारी व सूचना सामान्‍य उद्देश्‍य के लिए दी गई है। हम इसकी सत्‍यता की जांच का दावा नही करतें हैं यह जानकारी विभिन्‍न माध्‍यमों जैसे ज्‍योतिषियों, धर्मग्रंथों, पंचाग आदि से ली गई है । इस उपयोग करने वाले की स्‍वयं की जिम्‍मेंदारी होगी ।

admin