दक्षिण कोरिया से प्रेरणा ले कर केरल के डॉक्टरों ने पुराने टेलीफोन बूथ को जांच केंद्र में तब्दील किया

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

भारत के परंपरागत एसटीडी फोन बूथ और दक्षिण कोरियाई मॉडल से प्रेरणा लेकर केरल के कोच्चि शहर के डॉक्टरों ने कोविड-19 की जांच के लिए सैंपल एकत्रित करने के लिए खास कियोस्क तैयार किए हैं, जहां जाकर कोई भी अपने सैंपल जमा करा सकता है।

इस व्यवस्था में ये ध्यान रखा गया है कि सैंपल जाँच कराने आए शख्स और स्वास्थ्यकर्मी के बीच किसी तरह का कोई संपर्क नहीं होगा।

डॉ. गणेश मोहन ने बताया, “हमने फ़ोन बूथ के बेसिक मॉडल को अपनाया है। दक्षिण कोरिया में बने कियोस्क की तस्वीरों से भी हमें प्रेरणा मिली। हमने इसमें घूमने वाले पहिए लगाए हैं ताकि इसे वाहनों पर आसानी से उतारा और चढ़ाया जा सके। इसके चलते इसे ग्रामीण इलाक़ों, एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन पर भी रखना संभव हो सकेगा।”

फिलहाल कलामसेरी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में कोविड-19 से संक्रमित 25 मरीज हैं और यहां अब तक 2000 से ज्यादा लोगों की स्क्रीनिंग हो चुकी है। डॉ. कुट्टप्पन कहते हैं, ‘इन कियोस्क को बाद में निजी अस्पतालों में भी लगाया जाएगा।’

भारत में केरल में पहली बार इस तरह के कियोस्क लगाए जा रहे हैं जिन्हें ‘वॉक इन सैंपल कियोस्क्स (विस्क)’ कहा जा रहा है।

इस कियोस्क में एक मैग्नेटिक दरवाज़ा लगा है, जिसके अंदर पंखा लगा हुआ है। यहां के स्वास्थ्यकर्मी को फ्रेश ग्लव्स पहनने की भी ज़रूरत नहीं होगी। स्वास्थ्यकर्मी को अपने हाथ कियोस्क पर बने दो ग्लव्स जैसे बने होल में डालने हैं। ये होल बाहर लटकते दो ग्लव्स से जुड़े हैं। इस तरह स्वास्थ्यकर्मी कियोस्क के बाहर खड़े मरीज़ को बिना छुए उनके सैंपल को एकत्रित कर सकते हैं।

कोच्चि के कलामसेरी मेडिकल कॉलेज हॉस्पीटल के रेजीडेंट मेडिकल ऑफ़िसर (आरएमओ) डॉ. गणेश मोहन ने बीबीसी हिंदी को बताया, “अगर एक पल के लिए कोरोना वायरस संक्रमण को भूल भी जाएं तो भी स्वास्थ्यकर्मियों के हमेशा संक्रमित होने का ख़तरा बना रहता है चाहे वह एच1एन1 हो या फिर चिकन पॉक्स या फिर कोई दूसरा संक्रमण। हमारी कोशिश है कि हम स्वाब कलेक्शन (मुंह से थूक के नमूना इकट्ठा करने) की प्रक्रिया को सुरक्षित बनाएं।”

देश में संपूर्ण लॉकडाउन के बीच कोरोना वायरस का कहर बढ़ता ही जा रहा है। आज देश में सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र में 60, दिल्ली में 51, मध्यप्रदेश में 16, आंध्र प्रदेश में 15, कर्नाटक में छह और राजस्थान में पांच नए मामले सामने आए हैं। साथ ही आज पुणे में पांच और इंदौर में एक लोगों की मौत हुई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 773 नए मामले सामने आए हैं और 35 लोगों की मौत हुई है। इसी के साथ देशभर में संक्रमित मरीजों की संख्या 5194 हो गई। जिसमें से 4643 सक्रिय हैं, 401 लोग स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और 149 लोगों की मौत हो चुकी है।

ख़बर इनपुट- बीबीसी

admin