बीजेपी विधायक ने उस कैब ड्राइवर को सम्मानित किया जिसने सीएए विरोधी को पुलिस थाने पहुंचाया था

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। देशभर में नागरिकता कानून को लेकर विरोध प्रदर्शन चल रहा है। मुंबई में एक कैब ड्राइवर ने नागरिकता कानून के विरोध में बात करने पर अपने पैसेंजर को थाने पहुंचाया था। अब भारतीय जनता पार्टी ने उबर के उस कैब ड्राइवर को सम्मानित किया है। कैब ड्राइवर को अलर्ट सिटीजन अवार्ड से सम्मानित किया गया है।

दरअसल बप्पादित्य सरकार नामक एक कवि ने रोहित गौर की कैब से यात्रा करते समय सीएए विरोधी प्रदर्शनों के बारे फोन पर बात की थी। उनकी बात सुनकर ड्राइवर रोहित कैब ने उन्हें पुलिस थाने पहुंचाया था।

कैब ड्राइवर को मुंबई भाजपा प्रमुख मंगल प्रभात लोढा ने शनिवार को सम्मानित किया। भाजपा विधायक ने सांताक्रूज पुलिस थाने में कैब ड्राइवर रोहित गौर को ‘सतर्क नागरिक पुरस्कार’ प्रदान किया। लोढा ने यात्री एवं कवि-कार्यकर्ता बप्पादित्य सरकार पर सीएए के खिलाफ ‘राष्ट्र-विरोधी साजिश’ रचने का भी आरोप लगाया।

लोढा ने ट्वीट किया, “रोहित गौर जिन्होंने सीएए के खिलाफ राष्ट्र विरोधी षड्यंत्र रच रहे उबर टैक्सी यात्री को पुलिस को सौंपा। रोहित गौर को सांताक्रुज पुलिस थाने में बुलाकर मुंबई की जनता की ओर से उनका अभिनंदन किया और सतर्क नागरिक पुरस्कार से सम्मानित किया।”

क्या है ये मामला ?

जयपुर के रहने वाले कवि बप्पादित्य तीन फरवरी को काला घोड़ा महोत्सव में कवि सम्मेलन में हिस्सा लेने मुंबई आए थे। यहां नागपाड़ा में चल रहे सीएए-एनआरसी विरोधी प्रदर्शनों में भी उन्होंने हिस्सा लिया था। बुधवार रात जब वह उबर कैब में यात्रा कर रहे थे तभी वह फोन पर किसी से सीएए विरोधी प्रदर्शनों के बारे में बातचीत कर रहे थे। उनकी बातें सुनकर कैब ड्राइवर ने पुलिसकर्मियों को बुलाया और उनसे बप्पादित्य को गिरफ्तार करने का आग्रह किया। उन्हें पुलिस थाने ले जाया गया और पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया।

ड्राइवर ने बप्पादित्य से कथित तौर पर कहा कि उसे आभारी होना चाहिए कि वह उसे पुलिस थाने ले गया और कहीं और नहीं ले गया। बप्पादित्य ने बाद में टिप्पणी की कि चालक के आक्रामक व्यवहार और हिंसक भाषा से देश के वर्तमान माहौल की झलक मिलती है। बप्पादित्य ने यह भी कहा कि इस सब का सामना करने के बावजूद भी वह ड्राइवर के खिलाफ शिकायत नहीं दर्ज कराएंगे क्योंकि इससे उसका करियर और जीवन बर्बाद हो सकता है। वहीं पुलिस ने बप्पादित्य से कहा, ‘डफली और लाल स्कार्फ’ साथ ना रखें।

admin