20 से ज़्यादा फिल्मों में संगीत दे चुके डायरेक्टर के पिता की कमाई केवल 35 रुपये है

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

कोरोना वायरस के चलते फिल्म इंडस्ट्री से लेकर सारा कारोबार पूरी तरह से ठप पड़ा हुआ है। इसी बीच केजीएफ चैप्टर 1 के म्यूजिक डायरेक्टर रवि बसरुर भी अपने पिता का हाथ बंटाने पहुंच गए हैं।

दरअसल कोरोना के बीच रवि बरुसर की जमकर तारीफ़ हो रही है कारण उनके पिता लोहे का काम करते हैं जो अब रवि पिता का हाथ बंटाने के लिए कर रहे हैं।

रवि ने फेसबुक पर फोटो और वीडियो पोस्ट किए हैं। इसमें वे लोहे का काम कर रहे हैं एक वीडियो पोस्ट करते हुए उन्होंने लिखा, ‘हमारी यादों को जीने में भगवान मदद करते हैं। हम उसके हाथों की कठपुतलियां हैं।’ वीडियो में रवि एक बरतन पर हथौड़ी और कीलों के जरिए डिजाइन बनाते नज़र आ रहे हैं।
कोरोना वायरस की महामारी के चलते देश में 21 दिनों के लॉकडाउन हो चुका है। अब इस घोषणा के बाद से ही देश के निम्न-वर्गीय, गरीब, शोषित, दिहाड़ी मजदूरी करने वाले और वंचित वर्ग के लोगों के लिए  बड़ी परेशानी खड़ी हो गई है और दो वक्त की रोटी के लिए इन लोगों को काफी संघर्ष करना पड़ रहा है।

एक दूसरे वीडियो में रवि गरम लोहे को कूट रहे हैं। और आगे से नुकीला बना रहे हैं। इसके साथ उन्होंने लिखा है कि वे पिता को 35 रुपये कमाने में मदद रहे हैं। दोनों वीडियो अच्छी खासी संख्या में शेयर किए गए हैं। साथ ही रवि की काफी तारीफ भी हो रही है।

यही कारण है कि रवि ने अपने उडुपि जिले के अपने गांव कुंडापुरा तालुक जाकर अपने पिता का हाथ बंटाने का फैसला किया। रवि ने एक फेसबुक पोस्ट के सहारे बताया कि वे कैसे मुश्किल समय में अपने पिता की मदद कर रहे हैं। रवि के पिता दिन के 35 रुपए कमाते हैं।

रवि बसरुर का जन्म गरीब परिवार में हुआ था। उनका परिवार धातु जैसे लोहे, पीतल की मूर्तियां बनाने का काम करती है।  काफी संघर्ष के बाद उन्होंने साउथ के फिल्मी जगत में अपना नाम बनाया है। वे अभी तक 20 से ज्यादा फिल्मों में संगीत दे चुके हैं।

कोरोना वायरस के खिलाफ फिल्म इंडस्ट्री के सितारे मदद की कोशिश कर रहे हैं। महेश बाबू, रजनीकांत, पवन कल्याण, अल्लू अर्जुन, राम चरण जैसे साउथ एक्टर्स के अलावा अक्षय कुमारऔर वरुण धवन जैसे बॉलीवुड सितारों ने भी कोरोना के खिलाफ जंग में पीएम रिलीफ फंड और राज्य सरकारों के रिलीफ फंड में डोनेशन दिया है।

admin