पोप ने महिला को हाथ पर मारा, फिर कहा- धैर्य खोया, माफ करें

वेटिकन सिटी

वेटिकन में नए साल की पूर्व संध्या पर पोप फ्रांसिस लोगों को आशीर्वाद दे रहे थे, तभी वह एक महिला पर भड़क गए। उस महिला ने जोर से उनका हाथ पकड़कर खींच लिया, इससे नाराज होकर पोप ने महिला के हाथ पर थप्पड़ मार दिया। अब पोप ने इस घटना पर माफी मांगी है। पोप ने कहा, “”हम कई बार अपना आपा खो देते हैं। मेरे साथ भी ऐसा होता है। मैं उस बुरे दृष्टांत के लिए माफी मांगता हूं।”

दरअसल, पोप फ्रांसिस वेटिकन सिटी के सेंट पीटर्स स्क्वायर में थे। नए साल के उपलक्ष्य में वह लोगों को बधाई दे रहे थे और उनका अभिवादन कर रहे थे। उसी दौरान यह वाकया हुआ। एक महिला ने उनका हाथ पकड़ लिया और उन्हें अपनी ओर खींच लिया। इस दौरान पोप को गुस्सा आ गया। उन्होंने हाथ झटकते हुए महिला के हाथ पर जोर से मारा और वहां से चले गए। हालांकि, मामला बढ़ने पर बुधवार को उन्होंने माफी मांगी और कहा, “मैंने अपना धैर्य खो दिया था।”

इस घटना के कुछ देर बाद पोप ने अपने भाषण में महिलाओं के खिलाफ हर तरह की हिंसा की निंदा की। 83 साल के पोप ने नए साल के पहले संदेश में समाज में महिलाओं पर होने वाली हिंसा की निंदा की है। उन्होंने सेंट पीटर्स बेसिलिका में कहा, ‘महिलाओं पर होने वाली हर हिंसा से ईश्वर का अनादर होता है। महिला के शरीर को उपभोक्तावाद से मुक्त किया जाए। उनका सम्मान किया जाना चाहिए।’

बर्ताव की आलोचना

महिला प्रशंसक के हाथ से खुद को छुड़ाने के लिए उसके हाथ पर थप्पड़ मारते नाराज पोप की तस्वीर और वीडियो तेजी से वायरल हो रही है। यूजर्स मिली-जुली प्रतिक्रिया दे रहे हैं। एक यूजर ने लिखा, “मैं कैथोलिक नहीं हूं, लेकिन महिला ने गलत किया। पोप को देखकर लगा कि हाथ खींचने पर उन्हें दर्द हुआ था। यह तरीका ठीक नहीं है।” एक दूसरे यूजर ने लिखा, ‘माना महिला ने गलत किया था, लेकिन पोप का व्यवहार भी उनके पद की गरिमा के अनुरूप नहीं था।’

admin