इस शख्स की मौत से पहले का वीडियो रोंगटे खड़े करने के साथ प्रशासन की बदइंतजामी की पोल खोल रहा है

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

हैदराबाद के एक अस्पताल का वीडियो वायरल हो रहा है. बताया जा रहा है कि यह वीडियो उसी अस्पताल में भर्ती एक कोरोना मरीज के मौत से पहले की है।

दरअसल आंध्र प्रदेश की राजधानी हैदराबाद के चेस्ट अस्पताल में रवि कुमार नाम के एक कोरोना पीड़ित शख्स की कुछ दिनों पहले मौत हो गई थी। रवि को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी।

करीब 10 प्राइवेट अस्पतालों के भर्ती करने से मना किया

24 जून को हैदराबाद के सिटी अस्पताल में एक 35 वर्षीय मरीज को भर्ती किया गया था जिसकी मौत 26 जून को हो गई। मौत से पहले संक्रमित व्यक्ति ने जो वीडियो वायरल किया वह रोंगटे खड़े कर देने वाला है।

इस वीडियो में शख्स आखिरी सांस लेने से पहले अपने पिता से गुहार लगा रहा है। शख्स के पिता ने बताया कि करीब 10 प्राइवेट अस्पतालों के भर्ती करने से इनकार करने के बाद उसे बुधवार को सरकारी चेस्ट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था।

ऐसा लग रहा है कि मेरा दिल अब रुक गया है

सोशल मीडिया में वायरल हो रहे इस वीडियो में शख्स कह रहा है, ‘मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं.. जबकि मैंने कई बार कहा लेकिन पिछले तीन घंटे से मुझे ऑक्सिजन नहीं मिली है। डैडी अब मैं और सांस नहीं ले पा रहा हूं, ऐसा लग रहा है कि मेरा दिल अब रुक गया है… बाय डैडी, बाय टु ऑल डैडी।’

अस्पताल में कोरोना मरीज के मौत के मामले ने तूल पकड़ लिया है। मृतक के पिता ने आरोप लगाया कि वीडियो भेजने के थोड़ी देर बाद ही उनके बेटे की मौत हो गई। जिसके बाद रविवार को मृतक का अंतिम संस्कार किया गया।

इस वीडियो को शेयर करते हुए लोग कोरोना मरीजों को अस्पताल में इलाज के लिए आ रही दिक्कतों पर ध्यान देने की बात कह रहे हैं।

मेरे बेटे ने मदद मांगी पर किसी ने उसकी मदद नहीं की

शख्स के पिता ने एक न्यूज वेबसाइट को बताया, ‘मेरे बेटे ने मदद मांगी लेकिन किसी ने उसकी मदद नहीं की। मैंने यह वीडियो अंतिम संस्कार से वापस आने के बाद देखा। मेरे बेटे के साथ जो हुआ वह किसी और के साथ नहीं होना चाहिए। मेरे बेटे को ऑक्सिजन देने से क्यों इनकार कर दिया गया? क्या किसी को दे दिया गया था.. जब मैं यह वीडियो देखता हूं मेरा दिल टूट जाता है।’

दो दिन में हैदराबाद से ऐसा दो मामला सामने आ चुका है जो अमानवीयता दर्शाता है। एक मामले में हैदराबाद नगर निगम के कर्मचारी भी मिट्टी खुदाई करने वाले जेसीबी में संदिग्ध कोरोना संक्रमित के शव को डाल कर श्मशान घाट ले जाते दिखे थे। इस मामले में भी वीडियो वायरल और विपक्ष द्वारा उठाए सवाल के बाद दो अधिकारियों को सस्पेंड किया गया था।

admin