बिहार में कोरोना के बाद बर्ड फ्लू की आशंका जताई जा रही

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

कोरोना वायरस के खौफ के बीच अब बिहार के छपरा जिले में बर्ड फ्लू ने दस्तक दे दी है। शनिवार को गांव में पक्षियों की लगातार मौत की खबर से लोगों के बीच दहशत फैल गई। पूरा मामला गरखा प्रखंड के रायपुरा गांव का है। पिछले कुछ दिनों में कई कौओं के मौत के मामले सामने आए। जिसके बाद स्थानीय लोगों ने मामले की सूचना वन विभाग टीम को दी है।

फिलहाल लोग खुद को कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर एहतियात बरत रहे हैं। बिहार में कोविड-19 का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। इस बीच बर्ड फ्लू की आशंका से प्रशासन सतर्क है।

राज्य में बर्ड फ्लू व स्वाइन फ्लू की रोकथाम के मद्ददेनजर सर्तकता बढ़ा दी गई है। ऐसा निरंतर बदल रहे मौसम और हाल में एक नमूने की जांच में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद किया गया है। पशुपालन विभाग हालांकि अभी स्वाइन फ्लू के मामलों से इंकार कर रहा है पर उसकी एनीमल हेल्थ एंड प्रोडक्शन इंस्टीच्यूट स्वाइन फीवर से सुअरों की मौत होने के बात स्वीकार कर रहा है। 

ग्रामीणों ने बताया कि शनिवार को आम के बगीचे में पहुंचा तो वहां जगह-जगह कई कौए जमीन पर मृत पड़े थे। ग्रामीणों ने बताया कि बगीचे के अलावा आसपास के खेतों में भी कई कौवे और अन्य पक्षियों को भी मृत अवस्था में देखा गया। उन्होंने बताया कि मृत पड़े कौओं को खाने के बाद तीन-चार कुत्ते की भी मौत हुई है।

वन विभाग के अधिकारी तमाम मामलों की जांच में जुटे हुए हैं लेकिन छपरा में अभी तक बर्ड फ्लू से जुड़ा कोई मामला प्रकाश में नहीं आया है।

हालांकि, कौओं की लगातार हो रही मौत के पीछे क्या वजह है ये स्पष्ट नहीं हुआ है। वन विभाग की ओर से कहा गया है कि जांच रिपोर्ट आने के बाद ही इसका पता चल सकेगा।

वहीं बिहार में कोरोना संक्रमण जांच और तेज करने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को 6240 रैपिड टेस्ट किट बिहार को पहली किस्त में भेजा है। इससे जांच में पहले के अपेक्षा और तेजी आएगी।

admin