कभी लार्ड्स के लॉन्ग रूम में महिलाओं की एन्ट्री नहीं थी, अब ये होंगी वहाँ की पहली महिला अध्यक्ष

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

कोरोना संक्रमण के दौर में पूरी दुनिया में खेलों में बहुत बदलाव हुए लेकिन मेरिलबोन क्रिकेट क्लब यानी एमसीसी के इतिहास में एक नया अध्याय लिखने जा रहा है।

दरअसल इंग्लैंड की पूर्व कप्तान क्लेयर कोनोर मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) के 233 साल के इतिहास में पहली महिला अध्यक्ष बनने जा रही है जो श्रीलंका के कुमार संगकारा की जगह लेंगी।

पहली महिला अध्यक्ष का ऐलान खुद संगकारा ने की

कोनोर के नामांकन का ऐलान मौजूदा अध्यक्ष कुमार संगकारा ने बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिए हुई एमसीसी की सालाना बैठक में किया था।

43 वर्षीय क्लेयर फिलहाल इंग्लैंड ऐंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड  के महिला क्रिकेट की मैनेजिंग डायरेक्टर हैं। वह 1 अक्टूबर 2021 को अपना पद संभालेंगी। संगाकार को दूसरा कार्यकाल दिया गया था। संगाकारा इस क्लब के पहले नॉन-ब्रिटिश अध्यक्ष थे।

क्लब के सदस्यों से मंजूरी मिलना बाकी

अभी इसे क्लब के सदस्यों से मंजूरी मिलना बाकी है। कोविड-19 के कारण क्रिकेट गतिविधियों पर पड़े प्रभाव को देखते हुए संगकारा का कार्यकाल एक साल के लिये बढ़ा दिया गया था। कोनोर को 2009 में एमसीसी की आजीवन सदस्य बनाया गया था।

क्रिकेट के मक्का कहे जाने वाले लॉर्ड्स पर एमसीसी स्थित है। इसी क्लब का यह ग्राउंड भी है। यह क्लब क्रिकेट के नियमों का संरक्षक और मध्यस्थ की भूमिका निभाता है।

मैं नौ साल की थी जब पहली बार लॉर्ड्स आई थी

कोनोर ने कहा, “हमें असल में यह देखना पड़ता है कि हम कितना आगे आ गए हैं। मैं नौ साल की थी जब पहली बार लॉर्ड्स आई थी। यहां आकर मेरी आंखें खुली ही रह गई थीं। यह वह वक्त था जब महिलाओं को लॉन्ग रूम में जाने नहीं दिया जाता था। वक्त काफी बदल गया है।”

कोनोर ने 1995 में 19 साल की उम्र में इंग्लैंड की तरफ से पदार्पण किया और 2000 में उन्हें कप्तानी सौंपी गयी थी। ऑलराउंडर कोनोर की अगुवाई में ही इंग्लैंड महिला टीम ने 2005 में 42 साल बाद एशेज श्रृंखला जीती थी।

उन्हें 2007 में ईसीबी की महिला क्रिकेट का प्रमुख नियुक्त किया गया था। उन्होंने कहा, “मैं एमसीसी के अगले अध्यक्ष के लिए नामित होने से बेहद सम्मानित महसूस कर रही हूं। क्रिकेट ने मुझे बहुत कुछ दिया है और अब उसने मेरे हाथों में यह बहुत बड़ा सम्मान सौंपा है।”

10 साल तक इंग्लैंड की टीम की सदस्य रहीं

क्लेयर 10 साल तक इंग्लैंड की टीम की सदस्य रही हैं और 6 साल टीम का नेतृत्व भी कहा। उन्होंने साल 2005 में ऑस्ट्रेलिया के इंग्लैंड दौरे पर तीनों फॉर्मेट में अपना आखिरी मैच खेला और इसके बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया। 30 साल की होने से पहले ही उन्होंने चोट की वजह से अपने करियर समाप्ति की घोषणा कर दी थी।

नियमों में बदलाव भी यही संस्था करती है

संगाकारा ने कहा, “मैं काफी खुश हूं कि क्लेयर ने एमसीसी के अगला अध्यक्ष बनने के प्रस्ताव को स्वीकार किया है।” उन्होंने कहा कि क्रिकेट की वैश्विक अपील में क्लब को एक महत्वपूर्ण भूमिका निभानी है और मुझे विश्वास है कि कोनोर अपने प्रभाव से एमसीसी में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी।

एमसीसी की स्थापना 1787 में हुई थी। एमसीसी पूरी दुनिया में क्रिकेट से जुड़े नियमों की संरक्षक है। नियमों में बदलाव भी यही संस्था करती है। क्लब के 18 हजार पूर्णकालिक और पांच हजार एसोसिएट सदस्य हैं। मेरिलबोन क्रिकेट क्लब ही लॉर्ड्स क्रिकेट मैदान की देखरेख करता है।

admin