तीसरा सीरो सर्वे : भारत में लगभग 21.5 प्रतिशत आबादी कोरोना संक्रमण की चपेट में

नई दिल्ली । देश में लगभग 21.5 प्रतिशत आबादी को कोरोना संक्रमण हो चुका है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के तीसरे सीरो सर्वे के मुताबिक 18 साल से ऊपर के आयु वर्ग के 21.5 प्रतिशत आबादी को कोरोना संक्रमण हो कर ठीक हो चुका है।

आईसीएमआर के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने बताया कि देश के तीसरे सीरो सर्वे में 21 राज्यों के 70 जिले व 700 गांव शामिल किए गए थे। कुल 28,589 लोग व 7,171 स्वास्थ्य कर्मियों को इस सर्वे में शामिल किया गया था। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्यकर्मियों में सीरो प्रिवलेंस (कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके) सबसे अधिक 25.7 प्रतिशत है। इनमें भी चिकित्सकों में सबसे ज्यादा 26.6 प्रतिशत सीरो प्रिवलेंस पाया गया।

आईसीएमआर द्वारा किए गए सीरो सर्वे के मुताबिक शहरी क्षेत्रों के झुग्गी बस्तियों में सीरो प्रिवलेंस की दर 31.7 प्रतिशत है जबकि गांव की झुग्गी बस्तिय़ों में यह प्रतिशत 26.1 है। ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण हो कर ठीक होने वालों का प्रतिशत 19.1 है। आईसीएमआऱ के तीसरे सीरो सर्वे में दिल्ली को नहीं शामिल किया गया है। दिल्ली में किए गए सीरो सर्वे में 56 प्रतिशत लोगों को कोरोना संक्रमण हो कर ठीक होने की बात कही गई है।

उल्लेखनीय है कि आईसीएमआर के पहले सीरो सर्वे के मुताबिक 0.73 प्रतिशत लोग कोरोना संक्रमित हो चुके थे। यह सर्वे मई और जून के महीने में किया गया था। दूसरा सीरो सर्वे अगस्त और सितंबर के महीने में किय़ा गया था, जिसके तहत 6.6 प्रतिशत लोग कोरोना संक्रमित पाए गए थे। तीसरा सीरो सर्वे 10 दिसंबर से लेकर 8 जनवरी तक किया गया, जिसमें 21.5 प्रतिशत आबादी में कोरोना संक्रमण हो कर ठीक होने की बात सामने आई है।

admin